अलसी के बीज के गुण फायदे उपयोग एवं नुक्सान Alsi ke fayde aur nuksan in hindi

By | April 14, 2020

अलसी क्या है इन हिंदी? What is Alsi in hindi

 
नमस्कार दोस्तों आज हम अलसी (Alsi) के बारे में बात करेंगे । दोस्तों अलसी एक आयुर्वेदिक औषधि है जो अनेक बीमारियों को दूर करने में मददगार होती है । अलसी का हमारे शरीर पर बहुत ही अच्छा प्रभाव पड़ता है तथा अलसी एक ऐसी औषधि है जो हमें स्वस्थ रखने में काफी मदद करती है ।
 
अलसी प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत माना जाता है, क्योंकि अलसी में प्रोटीन प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं । इसलिए यदि आप अपने भोजन में प्रोटीन शामिल करना चाहते हैं तो आप अलसी का उपयोग कर सकते हैं । हालांकि आजकल बाजार में बहुत से ऐसे प्रोडक्ट आ गए हैं जिन में अलसी का उपयोग किया जाता है, लेकिन हम आपको यही सलाह देंगे कि आप शुद्ध अलसी का ही प्रयोग करें ना कि अलसी से निर्मित किसी बाजारू प्रोडक्ट का ।
 
अलसी का उल्लेख ऋषि-मुनियों ने आयुर्वेदिक ग्रंथों में भी किया है । अलसी को आयुर्वेदिक ग्रंथों में 100 बीमारियों को दूर करने वाली जड़ी बूटी बताया गया है । यदि आप स्वस्थ एवं निरोगी रहना चाहते हैं तो आज से ही अलसी का उपयोग करना शुरू कर दें ।
 
अलसी के अंदर ओमेगा 3 फैटी एसिड भी मौजूद होता है, और आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि यह तत्व मछली में भी मौजूद होता है । इसलिए अलसी की उपयोगिता और ज्यादा बढ़ जाती है । यदि आप प्रतिदिन अलसी का सेवन ना कर सके तो सप्ताह में एक या दो बार तो आप अलसी का सेवन कर ही सकते हैं । आइए अब अलसी के बारे में कुछ और बातें विस्तार से जानते हैं ।
 
 

अलसी खाने का समय एवं सेवन विधि How to use Alsi in hindi

 
यदि हम आयुर्वेदिक ग्रंथों जैसे चरक संहिता एवं सुश्रुत संहिता की बात करें तो इन ग्रंथों में बताया गया है कि अलसी को सुबह के समय खाली पेट खाना सर्वश्रेष्ठ रहता है । आप अलसी को सुबह के समय खाली पेट खा सकते हैं । आइए अब बात करते हैं कि अलसी को खाने की सेवन विधि क्या है ।

अलसी को आप दो तरीके से खा सकते हैं, या तो आप अलसी को बीज के रूप में खा सकते हैं या अलसी के तेल के रूप में आप अलसी का सेवन कर सकते हैं । यदि आप अलसी को बीज के रूप में खाते हैं तो इसके लिए आप लगभग एक चम्मच अलसी को पीस लीजिए तथा उसे दही या दलिया में मिलाकर आप इसका सेवन कर सकते हैं ।
 
और पढ़े: Aashwini Mudra

अलसी का तेल Alsi Oil 

 
यदि आप तेल के रूप में खाना चाहे तो यह भी एक अच्छा विकल्प हो सकता है । इसके लिए आप अपने घर में साधारण तेल के स्थान पर अलसी का तेल इस्तेमाल कर सकते हैं । यदि आप अलसी खाते हैं तो आप एक बात का ध्यान रखें, अलसी को अच्छी तरह चबा चबा कर ही खाएं । क्योंकि यदि आप अलसी को अच्छी तरह चबाकर नहीं खाएंगे तो यह आपके शरीर से बिना हजम हुए ही बाहर निकल जाएगी ।
 
हम आपको ऊपर बता चुके हैं कि अलसी में ओमेगा 3 कि प्रचुर मात्रा पाई जाती है । अलसी को आप तेल के रूप में तथा सलाद के रूप में सेवन कर सकते हैं । यदि आप प्रतिदिन एक चम्मच अलसी को अपने नाश्ते में शामिल करें तो इससे आपको बहुत अधिक फायदा मिलेगा ।
 
 

अलसी की तासीर Alsi ki Tasir

आइए दोस्तों अब हम अलसी की तासीर के बारे में बात करते हैं । अलसी की तासीर गरम होती है, इसलिए अलसी को आपको ज्यादा मात्रा में नहीं खाना चाहिए तथा गर्मियों में भी आपको अलसी का सेवन कम मात्रा में ही करना चाहिए ।
 
यदि आप अलसी का सेवन अधिक मात्रा में करेंगे तो आपको इससे परेशानी हो सकती है । यदि आपको अलसी का सेवन करने से किसी प्रकार की कोई परेशानी हो तो आप अलसी का सेवन बंद कर दे तथा पानी का सेवन ज्यादा करें, जिससे आपके शरीर को थोड़ी ठंडक मिल सके ।
 

अलसी के फायदे Benefits of Alsi in hindi


अब हम अलसी के फायदे के बारे में बात करेंगे । अलसी विभिन्न रोगों के लिए एक फायदेमंद जड़ी-बूटी है । आइए इस बारे में विस्तार से बात करते हैं ।
 

हृदय रोग में लाभकारी अलसी Alsi benefits in heart problems in hindi

 
अलसी के बीज में अनेक ऐसे पोषक तत्व होते हैं जो हमारे ह्रदय के लिए बहुत अधिक फायदेमंद होते हैं । दिल की बीमारी को दूर करने के लिए अलसी के बीज का सेवन किया जा सकता है । अलसी के बीज में  ओमेगा 3 होता हैं जो हमारे हृदय को स्वस्थ रखने के लिए बहुत महत्वपूर्ण भूमिका अदा करते हैं ।
 
इतना ही नहीं अलसी के बीज में एंटी एक्सिडेंट गुड भी होते हैं जो दिल को सुचारु कार्य करने के लिए मददगार होते हैं । अलसी में ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है जो ब्लड प्रेशर को कंट्रोल रखता है, शरीर की सूजन को कम करता है तथा हृदय की धड़कन को नियंत्रित रखता है ।
 
अलसी में पर्याप्त मात्रा में फाइबर भी मौजूद होता है जो रक्त में से खराब कोलेस्ट्रॉल जिसे एलडीएल भी कहा जाता है को कम करता है तथा शरीर में अच्छा कोलेस्ट्रोल यानी एचडीएल की मात्रा को बढ़ाता है, जो एक अच्छे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही जरूरी होता है ।
 
अलसी के नियमित सेवन करने से हृदय की धमनियों में कोलेस्ट्रॉल बनना कम होता है जिससे हार्ट अटैक होने की संभावनाएं बहुत कम होती हैं । अलसी के सेवन से खून पतला रहता है जिससे हृदय को खून को पंप करने में ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ती है । यदि आप अपने हृदय स्वस्थ रखना चाहते हैं तो अपने भोजन में अलसी का सेवन जरूर करें ।
 
 

मासिक धर्म की गड़बड़ी में लाभदायक अलसी के बीज Alsi benefits in menstrual problems in hindi


अलसी के बीज मासिक धर्म की गड़बड़ी में काफी लाभदायक होते हैं । जिन महिलाओं को मासिक धर्म में दिक्कत रहती हैं, मासिक धर्म के समय बहुत ज्यादा कमर दर्द होता हो एवं शरीर में खुश्की रहती हो ऐसी महिलाओं को अपने भोजन में अलसी के बीज का या अलसी के तेल का सेवन करना अच्छा रहता है ।
 
कुछ महिलाओं में मासिक धर्म के पश्चात अर्थात रजोनिवृत्ति के पश्चात स्वभाव में बहुत ज्यादा चिड़चिड़ापन रहता है, तथा योनि में भी सूखापन आ जाता है । ऐसी स्थिति में यदि महिलाएं अलसी के बीज का इस्तेमाल करें तो काफी लाभ मिलता है ।
 
चिकित्सा विशेषज्ञों का सुझाव है कि महिलाओं को एक चम्मच अलसी के बीज का प्रतिदिन सेवन करना चाहिए, जिससे मासिक धर्म की समस्याओं में तो लाभ मिलता ही है साथ ही महिलाओं की प्रजनन क्षमता दी बढ़ती है ।
 
और पढ़ें: Arshoghni Vati in hindi
 

कोलेस्ट्रॉल घटाने में फायदेमंद अलसी Alsi benefits in cholesterol in hindi


अलसी का नियमित सेवन करने से हमारे शरीर में बनने वाले खराब कोलेस्ट्रॉल को घटाने में मदद मिलती है । अलसी में फ्लेवोनॉयड्स जैसे तत्व पाए जाते हैं, जो शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल यानी एलडीएल की मात्रा को कम करते हैं तथा शरीर में अच्छा कोलेस्ट्रॉल यानी एचडीएल की मात्रा को बढ़ाते हैं ।
 
चिकित्सा विशेषज्ञों का सुझाव है कि प्रतिदिन 1 से 2 चम्मच अलसी के बीज के चूर्ण को दही या दलिया के साथ नाश्ते में सेवन करना चाहिए । जिससे शरीर में खराब कोलेस्ट्रोल नियंत्रित रहे । अलसी में फाइबर भी मौजूद होते हैं जो कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित रखते हैं ।
 

वजन घटाने में सहायक अलसी Alsi benefits in weight loss in hindi


वजन कम करने में सहायक अलसी अलसी एक ऐसी आयुर्वेदिक औषधि है जो हमारे वजन को कम करने के लिए प्रयोग की जा सकती है । अलसी में मुख्य रूप से ओमेगा 3 फैटी एसिड, फाइबर तथा लिगनेन मौजूद होते हैं । यह ऐसे तत्व होते हैं जो वजन कम करने में सहायक होते हैं ।
 
जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया है की अलसी में फाइबर के साथ-साथ अच्छी क्वालिटी का वसा भी होता है । इसलिए अलसी का सेवन करने से आपका पेट लंबे समय तक भरा रहेगा तथा आपको बार बार भूख नहीं लगेगी ।
 
अलसी में ऊपर बताए गए तत्वों के अलावा विटामिन बी, पोटेशियम, मैग्नीशियम तथा जस्ता जैसे खनिज लवण मौजूद होते हैं, जो हमारे शरीर के मेटाबॉलिज्म को तो संतुलित रखते ही हैं, साथ ही हमारे इम्यूनिटी सिस्टम को भी बेहतर बनाने के लिए मददगार साबित होते हैं ।
 
एक अध्ययन में बताया गया है की अलसी का नियमित सेवन करने से वजन कम करने में काफी मदद मिलती है । अलसी में अट्ठारह प्रतिशत प्रोटीन होता है । इसके अलावा अलसी फाइबर का भी एक अच्छा स्रोत माना जाता है । आप अलसी को पीसकर दही, सलाद आदि के साथ भी सेवन कर सकते हैं या अलसी के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं ।
 
 

कैंसर में लाभकारी अलसी Alsi benefits in cancer in hindi


अलसी के बीज का पाउडर या अलसी का तेल का नियमित सेवन करने से कैंसर जैसी भयंकर एवं जानलेवा बीमारी को दूर रखने में मदद मिलती है । यदि हम अलसी में पाए जाने वाले तत्वों की बात करें तो अलसी के बीज के पाउडर या अलसी के तेल में अल्फा लिनोलेनिक एसिड, ओमेगा 3 फैटी एसिड, फाइबर तथा अन्य ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो कैंसर मैं फायदेमंद होते हैं ।
 
अलसी के बीज का चूर्ण या अलसी के तेल का सेवन करने से प्रोस्टेट का कैंसर, डिंब ग्रंथि का कैंसर, स्तन कैंसर तथा पेट के कैंसर में बहुत अधिक फायदा देखा गया है ।
 

मधुमेह में लाभकारी अलसी Alsi benefits in diabetes in hindi


एक अध्ययन में पाया गया है की अलसी का नियमित सेवन करने से मधुमेह के रोगियों को बहुत अधिक फायदा होता है । खासकर अलसी का नियमित सेवन करने से मधुमेह के टाइप टू रोगियों को काफी फायदा होता है ।
 
जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया अलसी में अल्फा लिनोलेनिक एसिड, ओमेगा 3 फैटी एसिड के साथ-साथ प्रोटीन फाइबर, विटामिन बी तथा अन्य मिनरल्स पाए जाते हैं, जो रक्त शर्करा को नियंत्रित रखने में बहुत ज्यादा मददगार होते हैं । यदि आप मधुमेह से पीड़ित हैं तो आप अलसी का सेवन कर सकते हैं । लेकिन अलसी का सेवन करने से पहले आप अपने चिकित्सक से संपर्क करें ।
 
 

पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद अलसी Alsi benefits in digestion system in hindi


अलसी के बीज का चूर्ण हमारे पाचन तंत्र के लिए बहुत अधिक फायदेमंद होता है । यदि आप अलसी का नियमित सेवन करते हैं तो आपके पाचन तंत्र पर इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ता है । अलसी में 2.8% फाइबर होता है । फाइबर मल को नरम बनाने में मदद करता है, जिससे कब्ज की समस्या में राहत मिलती है ।
 
फाइबर बड़ी आत को भी स्वस्थ रखने में मददगार साबित होता है । अलसी में ओमेगा 3 फैटी एसिड पाया जाता है, जिसके कारण पाचन संस्थान की समस्याओं जैसे कि इन्फ्लेमेटरी बॉवेल डिजीज तथा आंतों की सूजन में सुधार होता है ।
 
यहां आप एक बात का ध्यान रख्यान रखें, यदि अलसी के बीज के चूर्ण के स्थान पर अलसी का तेल इस्तेमाल करेंगे तो उसमें आपको फाइबर नहीं मिलेगा । इसलिए यदि आप चाहते हैं कि आपको फाइबर की पर्याप्त मात्रा मिले तो आप अलसी के तेल के स्थान पर अलसी के बीज का चूर्ण इस्तेमाल करें ।
 
 

विषाक्त पदार्थों को दूर रखने में मददगार अलसी Alsi benefits to remove toxins in hindi


अलसी का नियमित सेवन करने से हमारा शरीर विषाक्त पदार्थों से मुक्त रहता है । अलसी का सेवन शरीर को डिटॉक्सिफाई करने के लिए किया जाता है । अलसी में ओमेगा 3 फैटी एसिड के अलावा अन्य बहुत से ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो हमारे शरीर से विषाक्त पदार्थों को निष्कासित करने में मददगार साबित होते हैं, तथा हमारे शरीर की सफाई करते रहते हैं ।
 
अलसी में घुलनशील एवं अघुलनशील दोनों ही प्रकार के फाइबर मौजूद होते हैं । अलसी का सेवन करने से आंतों एवं लीवर से विषैले पदार्थ निष्कासित हो जाते हैं । इसके अलावा अलसी का सेवन करने से हमारे शरीर में बनने वाला बेड कोलस्ट्रोल भी कम होता है । बैड कोलेस्ट्रॉल भी एक प्रकार का विषैला पदार्थ ही होता है, जो हमारे शरीर की इम्यूनिटी सिस्टम को बहुत ज्यादा प्रभावित करता है ।
 
यदि हमारा शरीर विषैले पदार्थों से भरा होगा तो थोड़ा काम करने पर ही कमजोरी आना, थकान होना, सांस फूलना तथा अन्य कई समस्याएं आ जाती हैं । इसलिए अपने नाश्ते में अलसी के बीजों का चूर्ण अवश्य शामिल करें । जहां यह आपको आपके शरीर को डीटॉक्सिफाई करने में मदद करता है वहीं दूसरी ओर अनेक बीमारियों से हमारे शरीर को बचाता है।
 
 

बालों की समस्याओं में लाभकारी अलसी Alsi benefits in hair problems in hindi


अलसी का इस्तेमाल बालों की अनेक प्रकार की समस्याएं जैसे बालों का झड़ना, टूटना, बालों में खुश्की होना एवं बालों में डैंड्रफ होना आदि में भी किया जाता है । अलसी ओमेगा 3 फैटी एसिड का एक बहुत ही अच्छा, सस्ता और नेचुरल स्रोत है ।
 
यदि आप प्रतिदिन अपने नाश्ते या भोजन में अलसी का सेवन करते हैं तो आपको पर्याप्त मात्रा में ओमेगा 3 फैटी एसिड मिलता है, जो आपके बालों के लिए एक टॉनिक का काम करता है । इसके सेवन करने से बालों की ऊपर बताई गई सभी समस्याओं में लाभ मिलता है ।
 
कई बार बैक्टीरिया या फंगस के कारण सिर की त्वचा में इंफेक्शन हो जाता है, जो बालों की अनेक समस्याओं जैसे बालों का झड़ना, टूटना एवं डेंड्रफ का कारण बनते है । अलसी के बीज में ओमेगा 3 फैटी एसिड के अलावा विटामिन ई तथा अन्य ऐसे तत्व होते हैं जो हमारे शरीर की त्वचा खासकर हमारे सिर की त्वचा को अतिरिक्त पोषण प्रदान करते हैं, तथा बालों का झड़ना, टूटना तथा गंजेपन में लाभकारी होते हैं । आप अलसी के जल को भी अपने बालों में लगा सकते हैं । अलसी के जल को पानी में उबालकर बनाया जाता है ।
 

त्वचा रोगों में फायदेमंद अलसी Alsi benefits in skin diseases in hindi


अलसी में ओमेगा 3 फैटी एसिड, विटामिन बी, प्रोटीन तथा हेल्थी वसा मौजूद होती है । यह सभी तत्व जहां एक और हमारे शरीर की अन्य कई बीमारियों को दूर करते हैं वही हमारी त्वचा के लिए भी बहुत अधिक फायदेमंद होते हैं । अलसी का नियमित सेवन करने से त्वचा संबंधित समस्याओं जैसे कील मुंहासे, एग्जिमा, स्किन इन्फेक्शन, सनबर्न, एग्जिमा आदि में फायदा मिलता है ।
 
अलसी का सेवन करने से हमारा शरीर डीटॉक्सिफाई होता है, जिस कारण त्वचा भी बिल्कुल स्वस्थ और निरोगी रहती है । हमारी त्वचा से तैलीय पदार्थ का उत्सर्जन होता रहता है, यदि हमारे शरीर में विषैले पदार्थ होंगे तो इन विषैले पदार्थों के कारण हमारी त्वचा पर कील मुहांसे व एग्जिमा आदी हो जाते हैं ।
 
अलसी में एंटी इन्फ्लेमेटरी तथा anti-bacterial गुण होते हैं, जिन कारण त्वचा की ऊपर बताई गई समस्याओं में फायदा होता है । इसके अलावा अलसी का सेवन करने से आपकी त्वचा में ग्लो आता है तथा यह आपको युवा बनाए रखने में मददगार होती हैं । इसलिए आप अपने आहार में अलसी का सेवन अवश्य करें ।  यह आपकी त्वचा को हमेशा युवा बनाए रखेगी ।
 
और पढ़ें: Swarna bhasma benefits in hindi
 

अलसी के नुकसान Side Effects of Alsi in hindi

 
हालांकि अलसी एक प्राकृतिक और सुरक्षित जड़ी बूटी है जिसका किसी प्रकार का कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है । लेकिन कुछ विशेष परिस्थितियों में अलसी का सेवन करने से आपको कुछ दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है । आइए इस बारे में विस्तार से बात करते हैं ।
 
गर्भवती महिलाओं एवं स्तनपान कराने वाली महिलाओं को अलसी के बीज या अलसी के तेल का सेवन नहीं करना चाहिए । अधिक जानकारी के लिए आप अपने चिकित्सक से संपर्क कर सकते हैं ।
 
यदि आप खून पतला करने वाली दवाइयों का सेवन कर रहे हैं तो आपको अलसी का सेवन नहीं करना चाहिए । क्योंकि ऐसा करने से रक्तस्राव होने की संभावना बन जाती है ।

यदि आप मधुमेह से पीड़ित हैं तो आप अलसी का सेवन तो कर सकते हैं लेकिन ध्यान रखें, एक निश्चित अंतराल पर आप अपने ब्लड शुगर का स्तर चेक करवाते रहें । क्योंकि अलसी का सेवन करने से ब्लड शुगर का स्तर कम हो जाता है ।

अलसी का सेवन करते समय आप पानी खूब पिएं क्योंकि अलसी की तासीर गर्म होती है, तथा इसमें फाइबर भी बहुत अधिक मात्रा में होता है । इसलिए पानी पीने से आपका मेटाबॉलिज्म बिल्कुल नियंत्रित रहेगा ।

यदि अलसी के बीज का पाउडर या अलसी का तेल इस्तेमाल करते समय आपको किसी भी प्रकार की समस्या हो तो आप तुरंत अलसी का सेवन करना बंद कर दें । अधिक जानकारी के लिए आप अपने चिकित्सक से संपर्क अवश्य करें ।

और पढ़ें: हिमालय कॉन्फिडो टेबलेट्स के फायदे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *