श्रृंगाराभ्र रस के फायदे गुण उपयोग एवं नुकसान Shringarabhra Ras ke fayde or nuksan

By | July 2, 2020

श्रृंगाराभ्र रस क्या है? Shringarabhra Ras kya hai?

श्रृंगाराभ्र रस एक आयुर्वेदिक औषधि है जो मुख्य रूप से फेफड़ों के संक्रमण जैसे कि खांसी, फेफड़ों में बलगम का जमा हो जाना, अस्थमा, छाती में या पसली में दर्द होना, सांस लेने में दिक्कत होना आदि समस्याओं में प्रयोग की जाती है ।

इस औषधि में पारा एवं गंधक के अलावा लॉन्ग, दालचीनी, तेजपात, जावित्री, गजपीपल, जटामांसी, सौंठ, मिर्च, पीपल, आमला, बहेड़ा एवं छोटी इलायची जैसी जड़ीबूटियां मौजूद होती हैं । इन सभी जड़ी बूटियों की तासीर गर्म होती है तथा ये जड़ी बूटियां वात एवं कफ नाशक होती हैं, जिस कारण शृंगार रस फेफड़ों के संक्रमण से जुड़ी हुई समस्याओं में मुख्य औषधि के रूप में प्रयोग की जा सकती है ।

श्रृंगाराभ्र रस के घटक द्रव्य Shringarabhra Ras ke ghatak dravy

कृष्णाभ्रक भस्म 80 ग्राम, लौंग, दालचीनी, नागकेशर, तेजपात, कपूर, जावित्री, नेत्रवाला, गजपीपल, जटामांसी, तालिसपत्र, कूठ, धायफुल प्रत्येक 3-3 ग्राम, सोंठ, मिर्च, पीपल, आँवला, बहेड़ा प्रत्येक डेढ़-डेढ़ ग्राम, छोटी इलायची के बीज और जायफल 6-6 ग्राम, शुद्ध गंधक 10 ग्राम और शुद्ध पारा 6 ग्राम

श्रृंगाराभ्र रस के गुणधर्म Shringarabhra Ras ke gun in hindi

  1. Anti tussive
  2. Expectorant
  3. Anti biotic
  4. Anti allergic
  5. Anti inflammatory

श्रृंगाराभ्र रस के फायदे Shringarabhra Ras ke fayde in hindi

  1. यह औषधि फेफड़ों के संक्रमण को दूर करने के लिए बहुत ही अच्छा कार्य करती हैं ।
  2. इसका सेवन करने से खांसी एवं छाती में जमा हुआ बलगम निकल जाता है ।
  3. सीने में या पसली में होने वाले दर्द में यह औषधि बहुत अच्छा फायदा करती है ।
  4. सांस लेने में तकलीफ होना या श्वसन तंत्र के संक्रमण में यह औषधि लाभदायक होती है ।
  5. दमा श्वास (टीवी) में इस औषधि को मुख्य ओषधि के रूप में दिया जा सकता है ।
  6. इस औषधि के साथ सहायक औषधि के रूप में सितोपलादि चूर्ण का सेवन कराया जा सकता है ।

श्रृंगाराभ्र रस की मात्रा एवं सेवन विधि

इस औषधि की एक एक गोली सुबह एवं शाम को अदरक के रस और शहद के साथ दी जा सकती है । अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं ।

सावधानियां एवं दुष्प्रभाव

निर्धारित मात्रा में एवं चिकित्सक के परामर्श अनुसार सेवन करने पर इस औषधि का कोई दुष्प्रभाव नहीं देखा गया है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *