सौंफ अर्क के गुण उपयोग फायदे एवं नुक्सान Saunf Ark uses benefits and side effects

By | April 27, 2020

सौंफ अर्क क्या है? Saunf Ark  in hindi

  • उपलब्धता: यह ऑनलाइन और दुकानों में उपलब्ध है।
  • दवाई का प्रकार: हर्बल
  • मुख्य उपयोग: पाचन की समस्याएं
  • मुख्य गुण: वात-पित्त शामक, छर्दीनिग्रहण
  • कब न लें: गर्भावस्था में

सौंफ अर्क एक हर्बल एवं आयुर्वेदिक टॉनिक है जो सौंफ से बनाया जाता है । सौंफ अर्क का मुख्य उपयोग पेट की समस्याओं जैसे गैस, अपच, बदहजमी, भूख ना लगना, अफारा तथा पित्त ज्यादा बढ़ने के कारण छाती में होने वाली जलन किया जाता है । सौंफ अर्क को सौंफ से बनाया जाता है। यह दवा baidyanath, dabur, divya patanjali एवं hamdard जैसे कंपनियों के द्वारा बनायीं जाती है ।

सौंफ अर्क के घटक द्रव्य

  • सौंफ एक भाग
  • पानी 7 भाग

सौंफ अर्क बनाने की विधि

सौंफ अर्क बनाने के लिए सबसे पहले सौंफ को पानी में भिगो कर रख देते हैं । सौंफ को पानी में 24 से 48 घंटे तक भिगोकर रखते हैं जिससे सौंफ नरम एवं मुलायम हो जाती है । इसके पश्चात सौंफ तथा पानी को नाड़ीका यंत्र में डालकर इसका वाष्पन किया जाता है ।

वाष्प को संगठित करके किसी कांच के बर्तन में एकत्रित कर लिया जाता है । सौंफ अर्क बनकर तैयार है । अब अर्क को चितकिय के कार्यों में प्रयोग किया जा सकता है ।

आयुर्वेदिक गुण

  • रस (taste on tongue): मधुर, कटु, तिक्त
  • गुण (Pharmacological Action): लघु, स्निग्ध
  • वीर्य (Potency): शीत
  • विपाक (transformed state after digestion): मधुर

सौंफ अर्क के फायदे

  • सौंफ अर्क का सबसे मुख्य फायदा पेट की समस्याओं जैसे गैस, बदहजमी, अफारा आदि में होता है ।
  • इसके अतिरिक्त यह अम्लपित्त के कारण छाती में होने वाली जलन में भी फायदा करता है ।
  • इसका सेवन करने से भूख लगती है तथा पाचन बेहतर हो जाता है ।
  • पेट के दर्द में लाभकारी मंदाकिनी को नियंत्रित करने में लाभकारी।
  • महिलाओं में योनि शूल में लाभकारी
  • जी मिचलाना एवं उल्टी में लाभकारी
  • आम दोष एवं रक्त अतिसार में लाभकारी

सौंफ अर्क की सेवन विधि एवं मात्रा

औषधीय मात्रा (Dosage)

बच्चे 10 से 20 मिलीलीटर
वयस्क 20 से 60 मिलीलीटर

सेवन विधि (Directions)

दवा लेने का उचित समय (कब लें?)  ख़ाली पेट लें या खाना खाने के 30 मिनट पहिले लें या खाना खाने के 1 घंटे बाद लें
दिन में कितनी बार लें? 2 बार – सुबह और शाम (जरुरत अनुसार  इसका प्रयोग 3 बार भी किया जा सकता है।)
अनुपान (किस के साथ लें?) गुनगुने पानी में मिलकर
उपचार की अवधि (कितने समय तक लें) चिकित्सक की सलाह लें

सावधानियां एवं साइड इफेक्ट Side Effects and Pracautions in hindi

  • सामान्यतः सौंफ अर्क का कोई नुकसान या साइड इफेक्ट नहीं है ।
  • लेकिन फिर भी इसे किसी योग्य चिकित्सक की देखरेख में ही लेना चाहिए ।
  • गर्भवती महिलाओं एवं बच्चों को बिना डॉक्टर की सलाह के इसका सेवन नहीं करना चाहिए ।

दोस्तों आपको यह लेख कैसा लगा अपने विचार कमेन्ट में लिखकर जरुर बताये ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *