सफेद मूसली के फायदे गुण उपयोग एवं नुकसान Safed Musli ke fayde or nuksan in hindi

By | July 29, 2020

सफेद मूसली क्या है? Safed Musli kya hai?

यदि हम महिलाओं एवं पुरुषों के मूत्र संस्थान से संबंधित रोगों की बात करें तो हमारे मस्तिष्क में बहुत सी ओषधियां एवं जड़ी बूटियों के नाम आते हैं । इन्हीं जड़ी बूटी में से एक है सफेद मूसली ।

सफेद मूसली को हम आयुर्वेद का वरदान कह सकते हैं, क्योंकि यह जड़ी बूटी पुरुषों के मूत्र संस्थान के रोगों जैसे वीर्य का पतलापन, शीघ्रपतन, योन शक्ति की कमी, मधुमेह, मोटापा आदि समस्याओं में बहुत अधिक फायदेमंद होती है ।

वहीं दूसरी ओर यह जड़ी बूटी महिलाओं की विभिन्न समस्याओं जैसे माताओं के स्तनों में दूध की कमी का होना, महिलाओं में लिकोरिया की समस्या होना, बांझपन होना, महिलाओं में कामेच्छा की कमी होना जैसी समस्याओं में भी प्रयोग की जाती है । यह जड़ी बूटी पुरुषों एवं महिलाओं दोनों के द्वारा ही प्रयोग की जाती है ।

सफेद मूसली मुख्यतः भारत में ही पाई जाती है तथा भारत में यह हिमालय क्षेत्र में पाई जाती है । इसके अलावा सफेद मूसली की खेती भी की जाती है । सफेद मूसली की जड़ एवं तने को औषधि के रूप में प्रयोग किया जाता है । इसके फूल सफेद रंग के होते हैं ।

सफेद मूसली का वर्णन भारत के प्राचीन आयुर्वेदिक ग्रंथ राज निघंटु में मिलता है । भारतीय आयुर्वेदिक चिकित्सकों ने सफेद मूसली को व्हाइट गोल्ड यदि सफेद सोने का नाम दिया है, क्योंकि इस जड़ी बूटी में वास्तव में ही दिव्य गुण मौजूद होते हैं ।

सफेद मूसली पुरुषों में नपुंसकता के इलाज के लिए सर्वश्रेष्ठ जड़ी बूटियों के रूप में प्रयोग की जाने वाली जड़ी बूटी है । यह जड़ी बूटी पुरुषों एवं महिलाओं के सभी प्रकार के मूत्र रोगों को दूर करती है ।

सफेद मूसली के विभिन्न नाम Safed Musli ke vibhinn naam

सफेद मूसली को अलग-अलग भाषाओं में अलग-अलग नामों से जाना जाता है जो कि इस प्रकार है ।

सफेद मूसली की सेवन विधि एवं मात्रा Safed Musli dosage in hindi

सफेद मूसली को प्रत्येक उम्र के लोगों के द्वारा सेवन किया जा सकता है । इस जड़ी बूटी को बच्चों, बूढों, महिलाओं एवं पुरुषों के द्वारा प्रयोग किया जा सकता है । नीचे हमने सफेद मूसली को सेवन करने की तालिका दी है

सफेद मुसली के फायदे Safed Musli ke fayde in hindi

जैसा कि हमने आपको पर बताया सफेद मूसली को हम आयुर्वेद का वरदान कह सकते हैं । तो आइए जानते हैं सफेद मुसली के फायदे के बारे में ।

सफेद मुसली के फायदे यौन शक्ति बढ़ाने के लिए

सफेद मूसली को पुरुषों एवं महिलाओं दोनों के द्वारा ही सेक्स शक्ति बढ़ाने के लिए प्रयोग किया जा सकता है । सफेद मूसली में प्राकृतिक रूप से कामोत्तेजक गुण मौजूद होते हैं । यदि आपको या आपके पार्टनर में यौन उत्तेजना की कमी है तो 2 से 3 महीने तक सफेद मुसली पाउडर का सेवन करने से बहुत अच्छा लाभ मिलता है । यह पाउडर विभिन्न कंपनी के द्वारा बनाया जाता है ।

सफेद मुसली के फायदे शीघ्रपतन के लिए

सफेद मूसली को शीघ्रपतन (प्रीमेच्योर इजेकुलेशन) जैसी समस्या को दूर करने के लिए प्रयोग किया जाता है । सफेद मूसली वीर्य वाहिनी नाड़ियों को बल प्रदान करती हैं तथा वीर्य को गाढ़ा करती है ।

सफेद मूसली चूर्ण का 2 से 3 महीने तक सेवन करने पर वीर्य बहुत अधिक गाढ़ा हो जाता है तथा वीर्य वाहिनी नाडियो में भी बहुत अधिक ताकत आ जाती है जिससे व्यक्ति की स्तंभन शक्ति (स्टैमिना) बहुत अधिक बढ़ जाता है तथा शीघ्रपतन की समस्या में लाभ मिलता है ।

अल्प शुक्राणुता में लाभकारी सफेद मूसली

सफेद मूसली को अल्प शुक्राणुता में सफलतापूर्वक प्रयोग किया जाता है । इस जड़ी बूटी का सेवन करने से वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या तथा उनकी क्वालिटी दोनों में ही सुधार होता है जिस कारण यह पुरुष बांझपन की समस्या को दूर करती है ।

नपुंसकता में लाभकारी सफेद मूसली

सफेद मूसली पुरुषों की नपुंसकता की समस्या को दूर करने के लिए एक रामबाण औषधि है । सफेद मुसली पाउडर का 2 से 3 महीने तक सेवन करने पर पुरुषों के लिंग में तनाव की कमी (इरेक्टाइल डिस्फंक्शन) दूर होता है तथा लिंग में रक्त का प्रवाह सुचारू हो जाता है, जिससे संभोग के दौरान लिंग में पूर्ण तनाव आ जाता है तथा नपुंसकता जैसी समस्या में आराम मिलता है ।

महिला बांझपन दूर करने में लाभदायक सफेद मूसली

सफेद मूसली महिलाओं में बांझपन की समस्या को दूर करने के लिए प्रयोग की जाती है । सफेद मूसली पाउडर का सेवन करने से महिलाओं के गर्भाशय को बल मिलता है जिससे बार बार गर्भपात होने की समस्या दूर होती है ।

ब्रेस्ट मिल्क बढ़ाने में लाभदायक सफेद मूसली

बहुत सी माताएं बहने ऐसी होती हैं जिन्हें प्रसव के उपरांत बहुत कम दूध उतरता है, जिससे शिशु का पेट नहीं भरता है । ऐसी स्थिति में यदि चिकित्सक की देखरेख में सफेद मूसली का सेवन कराया जाए तो माताओं के स्तनों में दूध बढ़ने लगता है तथा यह समस्या दूर हो जाती है ।

इस स्थिति में दो से 4 ग्राम सफेद मूसली का चूर्ण बराबर मात्रा में मिश्री मिलाकर सुबह-शाम दूध के साथ सेवन करने से स्तनों में दूध की वृद्धि होने लगती है ।

लिकोरिया में लाभदायक सफेद मूसली

सफेद मूसली महिलाओं की लिकोरिया (श्वेत प्रदर) की समस्या में बहुत अधिक फायदेमंद होता है । श्वेत प्रदर अर्थात लिकोरिया की समस्या में 5-5 ग्राम सफेद मुसली पाउडर को मिश्री कि बराबर मात्रा के साथ सुबह शाम दूध के साथ सेवन करने से बहुत अच्छा आराम मिलता है ।

रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ाने में लाभदायक सफेद मूसली

सफेद मूसली का सेवन करने से वीर्य पुष्ट होता है, शारीरिक शक्ति बढ़ती है तथा शरीर की रोग प्रतिरोधक शक्ति बहुत अधिक बढ़ जाती है । सफेद मूसली को हम रसायन कह सकते हैं क्योंकि यह शरीर में सभी प्रकार की कमजोरी को दूर करता है एवं व्यक्ति को नई ऊर्जा एवं उत्साह प्रदान करता है ।

डायबिटीज में लाभदायक सफेद मूसली

सफेद मूसली का सेवन करने से शरीर में इंसुलिन का उत्पादन बढ़ता है, जिस कारण मधुमेह को नियंत्रण में रखने में सहायता मिलती है । जिन लोगों को बढ़ती उम्र एवं मधुमेह के कारण सेक्स की समस्या हो जाती है तथा नपुंसकता एवं शीघ्रपतन जैसी यौन समस्याएं घेर लेती हैं उन्हें सफेद मूसली अमृत के समान सेवन कराना चाहिए, क्योंकि इस स्थिति में सफेद मूसली सबसे अच्छा फायदा पहुंचाती है । बढ़ती उम्र की समस्याओं में सफेद मूसली से बेहतर शायद ही कोई दूसरी जड़ी बूटी होगी । सफेद मूसली को आप बाजार से ऑनलाइन मंगा सकते हैं ।

सफेद मूसली में एंटी ऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में मौजूद होता है । यह रक्त में मौजूद ग्लूकोज को कम करती हैं तथा डायबिटीज के स्तर को नियंत्रित रखती है । डायबिटीज की समस्या में 5-5 ग्राम सफेद मूसली पाउडर को सुबह-शाम दूध के साथ लिया जा सकता है ।

सफेद मुसली के फायदे मूत्र रोगों में

सफेद मूसली मूत्र रोगों में कमाल का फायदा पहुंचाती है । मूत्र संस्थान की समस्याएं जैसे पेशाब में जलन, पेशाब का रुक रुक कर आना या पेशाब का बार बार आना, पेशाब का बहुत कम मात्रा में बार बार आना, पेशाब में जलन या पेशाब में किसी प्रकार का संक्रमण, पेशाब में धातु गिरना आदि समस्याओं में सफेद मूसली फायदा पहुंचाती है ।

जिन लोगों को धातु रोग की समस्या है या जो नवयुवक स्वपनदोष से परेशान रहते हैं उन्हें भी सफेद मूसली का सेवन करने से बहुत अच्छा लाभ मिलता है ।

इस प्रकार हम कह सकते हैं कि सफेद मूसली पुरुषों एवं महिलाओं दोनों के लिए ही बहुत ही लाभदायक औषधि है । यदि आपको बढ़ती उम्र के कारण किसी भी प्रकार की यौन समस्या, गर्भाशय से संबंधित समस्या या मूत्र संक्रमण है तो आप सफेद मूसली पाउडर का सेवन कर सकते हैं ।

सफेद मूसली का सेवन करते समय सावधानियां एवं इसके दुष्प्रभाव

सफेद मूसली पूर्ण रूप से प्राकृतिक एवं सुरक्षित जड़ी बूटी है तथा इसका किसी प्रकार का कोई गंभीर दुष्प्रभाव जस्ट साइड इफेक्ट नहीं है । हम केवल आपको इतनी सलाह देंगे कि इस जड़ी बूटी को आप निर्धारित मात्रा में ही सेवन करें ।

बहुत अधिक मात्रा में सेवन करने पर आपके पाचन शक्ति पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है । सामान्यतः 5 ग्राम से 10 ग्राम तक सफेद मूसली का पाउडर का सेवन प्रतिदिन किया जा सकता है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *