तेजी से हीमोग्लोबिन बढाने के घरेलु उपाय, क्या खाय क्या ना खाए

यदि आप हिमोग्लोबिन अर्थात खून की कमी से परेशान हैं तथा चाहते हैं कि आपके शरीर में हिमोग्लोबिन की कमी दूर हो जाए तो आपको अपनी डाइट में कुछ ऐसे खाद्य पदार्थों को शामिल करना बेहद जरूरी है जो आपके शरीर में हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने में मददगार होते हैं । इस लेख में हम हीमोग्लोबिन बढाने के घरेलु उपाय एवं हीमोग्लोबिन बढाने के लिए क्या खाए और क्या ना खाए, इस बारे में चर्चा करेंग ।

हिमोग्लोबिन हमारे शरीर के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण अवयव है । यदि हमारे शरीर में खून की कमी हो जाए तो हमारी मृत्यु भी हो सकती हैं । खून का एक लेवल होता है, यदि हिमोग्लोबिन इस लेवल से कम हो तो उसे हिमोग्लोबिन की कमी माना जाता है ।

हीमोग्लोबिन का हमारे शरीर में कार्य

हिमोग्लोबिन हमारे शरीर में कई प्रकार के कार्य करता है जैसे कि सबसे पहले तो हिमोग्लोबिन के माध्यम से ही पूरे शरीर में ऑक्सीजन का प्रवाह होता है । हमारा मस्तिष्क बिना ऑक्सीजन के सही प्रकार से कार्य नहीं कर सकता । यदि मस्तिष्क में रक्त का प्रवाह कम हो जाए जिस वजह से ऑक्सीजन भी कम हो जाएगी तो हमारा दिमाग सही प्रकार से कार्य करना बंद कर देगा ।

ऑक्सीजन के अतिरिक्त रक्त के माध्यम से अन्य पोषक तत्वों को भी शरीर के विभिन्न भागों में पहुंचाया जाता है । रक्त हमारे शरीर में से विभिन्न प्रकार के विषैले पदार्थों (टॉक्सिंस) को निकालने में मददगार होता है । किडनी, फेफड़े तथा अन्य पाचन अंग भी रक्त की सहायता के बिना सही प्रकार से कार्य नहीं कर सकते हैं । रक्त के माध्यम से शरीर को पोषक तत्व प्रदान किए जाते हैं तथा आवश्यकता पड़ने पर दवाई भी रक्त के माध्यम से ही शरीर में इंजेक्ट की जा सकती हैं ।

मनुष्य शरीर में मौजूद रक्त में 2 अवयव होते हैं प्लाज्मा तथा रक्त कणिकाएं । रक्त कणिकाएं भी दो प्रकार की होती हैं श्वेत रक्त कणिकाएं तथा लाल रक्त कणिकाएं । इन दोनों रक्त कणिकाओं के अपने अपने कार्य होते हैं – श्वेत रक्त कणिका हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाने में मददगार होती है जिससे हमारी इम्यूनिटी मजबूत रहती है तथा हम रोगों से लड़ पाते हैं । (और पढ़े: इम्युनिटी बढाने का आयुर्वेदिक काढ़ा)

हीमोग्लोबिन की कमी होने पर हमें विभिन्न प्रकार की बीमारियां हमें घेर लेती हैं । इसके अलावा गर्भावस्था में महिलाओं में हीमोग्लोबिन की कमी हो जाती है । गर्भावस्था में महिलाओं में हिमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने के लिए खानपान का विशेष ध्यान रखना चाहिए ।

हिमोग्लोबिन बढ़ाने के लिए क्या खाएं

यदि आप अपने आहार का उचित ध्यान रखेंगे तो आप कुछ ही समय में हीमोग्लोबिन की कमी को दूर कर सकते हैं । हिमोग्लोबिन की कमी को दूर करना कोई ज्यादा मुश्किल बात नहीं है । केवल आपको अपने डाइट प्लान में परिवर्तन करना है और कुछ ही समय में आप हिमोग्लोबिन को बढ़ा सकते हैं । नीचे हमने हीमोग्लोबिन की कमी को दूर करने के लिए डाइट प्लान के बारे में बताया है ।

हरी पत्तेदार सब्जियां

आप अपने आहार में हरी पत्तेदार सब्जियों को अधिक से अधिक शामिल करें । हरी पत्तेदार सब्जियों में आयरन पर्याप्त मात्रा में होता है जो हिमोग्लोबिन को बढ़ाने में मददगार होता है ।

आप अपने भोजन में पालक, पत्ता गोभी, शलगम, शकरकंद, सरसों, पालक, चना इत्यादि का अधिक से अधिक सेवन करें । मौसम में आने वाली मूली के पत्तों की सब्जी बना कर खाय । इसमें भी काफी आयरन होता है । शकरकंद को उबालकर अधिक से अधिक सेवन करें । इनके अलावा भी जितनी अन्य हरी सब्जियां हैं उनका खूब सेवन करें । इससे आपको हीमोग्लोबिन बढ़ाने में मदद मिलेगी तथा आपका वजन भी नियंत्रित रहेगा ।

चुकंदर

हरी सब्जियों के बाद चुकंदर को हीमोग्लोबिन बढ़ाने के लिए सबसे बेहतरीन विकल्प माना जाता है । चुकंदर को आप अपने खाने में सलाद के रूप में प्रतिदिन सेवन कर सकते हैं । चुकंदर, अनार तथा अंगूर इन तीनों का जूस निकालकर अपने नाश्ते में सेवन कर सकते हैं । चुकंदर में आयरन के अतिरिक्त विटामिन ए, विटामिन सी पर्याप्त मात्रा में मौजूद होता है ।

गर्भवती महिलाओं को हीमोग्लोबिन का स्तर कम समय में बढ़ाने की आवश्यकता होती है । इस स्थिति में महिलाओं को चुकंदर तथा अनार इन दोनों का रस घर पर ही निकालना चाहिए तथा दिन में दो बार लेना चाहिए, 1 सप्ताह में ही हीमोग्लोबिन का स्तर निश्चित रूप से बढ़ जाएगा

आयरन युक्त खाद्य पदार्थ

हिमोग्लोबिन का स्तर बढ़ाने के लिए ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन किया जाना चाहिए जिनमें आयरन पर्याप्त मात्रा में मौजूद हो जैसे कि खजूर, बदाम, किशमिश, रेड मीट इत्यादि ।

आयरन युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करने से केवल हीमोग्लोबिन का स्तर ही नहीं बढ़ता है बल्कि हड्डीया भी मजबूत होती हैं । जिन बच्चों की हड्डियां कमजोर होती हैं उन्हें आयरन तथा कैल्शियम युक्त चीजें खूब खिलानी चाहिए ।

बदाम

बदाम का जिक्र हमने ऊपर कर दिया है, लेकिन बदाम के बारे में विशेष रूप से बताने की आवश्यकता है । बदाम में आयरन बहुत अधिक मात्रा में होती है । इसलिए यदि आपमें खून की कमी है तो आपको 5 से 6 बदाम सुबह शाम प्रतिदिन खाने चाहिए । यह हिमोग्लोबिन की कमी को दूर करने के लिए बहुत ही अच्छा उपाय है ।

फलों का सेवन करें

शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी दूर करने के लिए फलों का सेवन करना बेहद जरूरी है । आप अपने आहार में ताजे मौसमी फल जैसे सेब, लीची, अंगूर, तरबूज, अनार तथा खजूर का अधिक से अधिक सेवन करें । घर पर ही मौसमी फलों का जूस निकाल कर पी सकते हैं । विशेषकर संतरा, अनानास, लीची, चुकंदर, मौसमी तथा कीनू इन सब का जूस निकालकर प्रतिदिन पीने से खून में बहुत तेजी से वृद्धि होती है तथा 8 से 10 सप्ताह में ही आप में हीमोग्लोबिन की कमी दूर हो जाएगी ।

टमाटर का सेवन करें

जैसे टमाटर का रंग लाल होता है वैसे ही टमाटर का सेवन करने से आपके चेहरे का रंग भी लाल हो सकता है, क्योंकि टमाटर में हिमोग्लोबिन बढ़ाने वाले तत्व मौजूद होते हैं । टमाटर में विटामिन ई, विटामिन बी सिक्स, विटामिन ए तथा विटामिन के के अतिरिक्त विभिन्न खनिज लवण जैसे मैग्नीशियम, फास्फोरस, कोपर, पोटेशियम आदि मौजूद होते हैं । इसलिए अपने भोजन में प्रतिदिन टमाटर का सेवन जरूर करें ।

गाजर का सेवन करें

गाजर भी सेहत बनाने के लिए काफी अच्छा विकल्प माना जाता है । सर्दियों के मौसम में पर्याप्त मात्रा में गाजर बाजार में मौजूद होती है । आप गाजर की सब्जी भी कहा सकते हैं तथा गाजर का जूस निकालकर भी पी सकते हैं । गाजर में फाइबर तो होता ही है साथ ही विटामिन, एंटीऑक्सीडेंट तथा अन्य खनिज तत्व भी मौजूद होते हैं ।

खमीर युक्त भोजन का सेवन करें

बहुत से लोगों का जीवन या तो बहुत ज्यादा व्यस्त होता है या उनकी आर्थिक स्थिति इतनी अच्छी नहीं होती है कि वे अपने भोजन में फलों तथा बदाम इत्यादि का सेवन कर सकें, क्योंकि सभी के पास पर्याप्त साधन मौजूद नहीं होते है । इसलिए हम आपको इसका बहुत ही अच्छा उपाय बता रहे हैं ।

चाहे आपके पास समय की कमी हो या पैसे की, दोनों ही स्थितियों में आप इस उपाय को कर सकते हैं । आप अपने भोजन में खमीर युक्त खाद्य पदार्थ जैसे कि इडली सांभर, ढोकला, डोसा, ब्रेड, परंपरिक दही चावल इत्यादि का सेवन अधिक से अधिक करना शुरू कर दें ।

क्योंकि खमीर युक्त खाद्य पदार्थ में विटामिन b12 प्रचुर मात्रा में होता है तथा आपको जानकर आश्चर्य होगा कि विटामिन b12 की कमी से विभिन्न प्रकार की गंभीर समस्याएं होती हैं, जिनमें रक्ताल्पता एनीमिया एक प्रमुख समस्या है । इसलिए अपने भोजन में खमीर युक्त भोजन का सेवन करना शुरू कर दें ।

काला चना (काबुली चना) का सेवन करें

काला चना जिसे काबुली चना भी कहा जाता है आयरन का बहुत अच्छा स्रोत माना जाता है । आप काले चने की सब्जी बनाकर भी खा सकते हैं या काले चने को उबालकर इसकी चाट बनाकर भी खा सकते हैं । आप काबुली चने को प्रतिदिन अपने नाश्ते में सेवन करें कुछ समय में ही आपके हिमोग्लोबिन में सुधार आना शुरू हो जाएगा ।

भोजन के पश्चात गुड़ का सेवन करें

पुराने समय में लोग खाना खाने के बाद थोड़ा सा गुड़ जरूर खाया करते थे, क्योंकि गुड़ खाने से पाचन भी स्वस्थ रहता है तथा सांस नली भी साफ हो जाती है । इसके अलावा गुड खाने का एक फायदा और भी है, वह है गुड में आयरन की पर्याप्त मात्रा का होना ।

गुड़ खाने से हमारे शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी दूर होती हैं । इसलिए यदि आप हिमोग्लोबिन की कमी से परेशान है तो खाना खाने के बाद थोड़े से गुड खाने की आदत डालें ।

हिमोग्लोबिन बढ़ाने में मदद करने वाले पोषक तत्व

आपको उन सभी पोषक तत्वों के बारे में भी पता होना चाहिए जो खून में हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने में मददगार होते हैं । सही जानकारी अच्छे स्वास्थ्य की ओर ले जाने में मददगार होती है । सही तथा अच्छी जानकारी के लिए santayurveda.in एक भरोसेमंद वेबसाइट है जो कोई भी लेख लिखने से पहले सही तरीके से research करती है तथा उसके बाद अपने पाठकों के सामने पेश करती हैं ।

यहां हमने उन सभी पोषक तत्वों के बारे में बताया है जो खून में हिमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने में मददगार होते हैं, तो आइए जानते हैं ।

आयरन युक्त खाद्य पदार्थ खून में हिमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने के लिए सबसे पहले उन खाद्य पदार्थों का सेवन किया जाना चाहिए जिनमें आयरन पर्याप्त मात्रा में मौजूद हो । नीचे दिए गए खाद्य पदार्थ आयरन से भरपूर होते हैं । आपको इनका अधिक से अधिक सेवन करना चाहिए तथा अपने भोजन में जरूर शामिल करना चाहिए ।

  • हरी पत्तेदार सब्जियां
  • अंडे की जर्दी
  • साबुत अनाज
  • दालें और फलियां
  • मीट और मछली
  • सूखे मेवे और खजूर
  • मूंगफली, कद्दू के बीज इत्यादि

इसके अलावा निम्न पोषक तत्व भी हमारे शरीर में आयरन के स्तर को बढाने में मददगार होते हैं ।

विटामिन सी युक्त खाद्य पदार्थ

विटामिन सी भी हमारे रक्त में हिमोग्लोबिन के स्तर को बनाए रखने में काफी अहम भूमिका निभाता है । विटामिन सी का मुख्य कार्य भोजन से प्राप्त आयरन के अवशोषण में मदद करना होता है ।

विटामिन सी की कमी होने पर हमारा शरीर भोजन में मौजूद आयरन को पर्याप्त मात्रा में अवशोषित नहीं कर पाता है जिससे हमें आयरन युक्त भोजन ग्रहण करने के पश्चात भी हिमोग्लोबिन की कमी बनी रहती है । विटामिन सी प्राप्त करने के लिए आपको खट्टे फलों जैसे संतरा, कीवी, अनानास, मौसमी, अंगूर, टमाटर इत्यादि का खूब सेवन करना चाहिए ।

नींबू विटामिन सी का सबसे अच्छा स्रोत माना जाता है । यदि आप रोज फल नहीं खा सकते तो आप नींबू को सलाद में डालकर खा सकते हैं या नींबू की शिकंजी बनाकर भी पी सकते हैं । इससे आपके शरीर में विटामिन सी की कमी नहीं होगी ।

विटामिन b12 युक्त खाद्य पदार्थ

विटामिन सी की तरह विटामिन b12 भी खून में हिमोग्लोबिन की कमी को दूर करने के लिए बेहतरीन स्रोत माना जाता है । विटामिन b12 की कमी से मुख्य रूप से एनीमिया तथा परनीसीयस रोग हो जाते हैं जोकि गंभीर बीमारियां हैं । विटामिन b12 की कमी का मुख्य प्रभाव रक्त में मौजूद लाल रक्त कणिकाओं (आरबीसी) पर पड़ता है तथा इनकी संख्या कम हो जाती है ।

आरबीसी कम होने पर कमजोरी महसूस होना, थोड़ा सा काम करने पर ही थकावट हो जाना, भूख ना लगना, स्वभाव में चिड़चिड़ापन रहना, आंखों के नीचे डार्क सर्कल बन जाना जैसी समस्याएं पैदा हो जाती है ।

विटामिन b12 की कमी को दूर करने के लिए आप मछली, चिकन, जूस, पनीर, अंडे इत्यादि का सेवन कर सकते हैं ।

फोलिक एसिड युक्त खाद्य पदार्थ

फोलिक एसिड विटामिन बी कॉम्प्लेक्स को कहा जाता है । फोलिक एसिड रक्त में हीमोग्लोबिन के स्तर को सुधारने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है । फोलिक एसिड का मुख्य कार्य रक्त में मौजूद लाल रक्त कणिकाओं का पुनर्निर्माण करना होता है जिस कारण हिमोग्लोबिन के स्तर में भी सुधार होता है ।

गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिलाओं को फोलिक एसिड युक्त दवाइयों को दिया जाता है क्योंकि फोलिक एसिड हिमोग्लोबिन के स्तर को बनाए रखता है । गर्भावस्था के दौरान महिलाओं में रक्त की कमी होना एक स्वाभाविक बात है । इस स्थिति में खान-पान का ध्यान रखते हुए फोलिक एसिड युक्त दवाइयों को देने की सलाह दी जाती है ।

गर्भावस्था में महिलाओं को हीमोग्लोबिन के स्तर को बढाने के लिए अनार तथा चुकुन्दर का जूस पीना चाहिए, इससे खून बहुत तेजी से बढ़ता है ।

फोलिक एसिड की कमी को दूर करने के लिए आप अपनी डाइट में नीचे दी गई खाद्य पदार्थों को शामिल कर सकते हैं ।

खून की कमी होने पर क्या ना खाएं

आपका खान-पान रक्त में मौजूद हीमोग्लोबिन के स्तर को काफी हद तक प्रभावित करता है । बहुत से ऐसे खाद्य पदार्थ हैं जिनका सेवन करने पर आपके रक्त मैं मौजूद हीमोग्लोबिन का स्तर घट सकता है ।

यदि आप बहुत ज्यादा चाय, कॉफी या अन्य नशीले पदार्थों का सेवन करते हैं तो हिमोग्लोबिन के स्तर में गिरावट आना स्वभाविक है । शराब, तंबाकू तथा अन्य नशीले पदार्थों का सेवन ना करें । बहुत ज्यादा एनर्जी ड्रिंक्स का सेवन करने से बचें । चॉकलेट तथा इसी तरह के अन्य खाद्य पदार्थों का सेवन करने से बचें । जंक फूड का कम से कम सेवन करें ।

यदि आपका इस लेख से जुड़ा हुआ कोई भी सवाल हो तो आप कमेंट बॉक्स में हमारे से पूछ सकते हैं । हमारी टीम आपके सभी सवालों का जवाब देने की कोशिश करेगी ।

Leave a Comment