कील मुंहासे (पिम्पल्स) हटाने के घरेलू उपाय – Home Remedies for Pimples (Acne) in Hindi

By | July 25, 2020

कील मुंहासे (पिम्पल्स) हटाने के घरेलू उपाय – Home Remedies for Pimples (Acne) in Hindi

आजकल के समय में चेहरे पर कील मुंहासे होना एक आम से बात हो गई है । चेहरे पर कील मुहासे होने की समस्या ज्यादातर नवयुवकों एवं नवयुवतियों में पाई जाती है ।

चेहरे पर कील मुंहासे होने के कई कारण हो सकते हैं, जैसे कि खानपान में गड़बड़ी होना या शरीर में हारमोंस का असंतुलन हो जाना । इसके अलावा पर्यावरण प्रदूषण या कुछ अन्य घटक भी चेहरे पर कील मुंहासे होने के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं ।

जब नवयुवकों एवं नवयुवतियों के चेहरे पर कील मुंहासे आते हैं तो वे बहुत ज्यादा चिंतित हो जाते हैं तथा इंटरनेट पर इसके बारे में खोजबीन करना शुरू कर देते हैं । कहीं से पढ़ कर यह सुनकर बाजार से केमिकल युक्त मेडिसिन ले आते हैं जिससे उनका चेहरा और ज्यादा खराब होने की संभावना बढ़ जाती है ।

आज हम आपको इस लेख में कील मुहांसों से संबंधित सभी जानकारी देंगे तथा कील मुंहासे दूर करने के घरेलू उपाय बताएंगे ।

हमारे शरीर में हथेलियों तथा पैरों के तलवे को छोड़कर पूरे शरीर की त्वचा में तेल ग्रंथियां मौजूद होती हैं । इन तेल ग्रंथियों से लगातार तैलीय पदार्थ निकलता रहता है जो हमारी त्वचा को नम बनाए रखता है तथा त्वचा की सुरक्षा भी करता है ।

हमारी त्वचा में मौजूद रोम छिद्र भीतर से इन तैलीय ग्रंथों से जुड़े होते हैं जिस कारण इन तैलीय ग्रंथियों से निकलने वाला तेल त्वचा के ऊपर आ जाता है तथा हमारी त्वचा तरोताजा नजर आती है ।

जब खानपान या हार्मोनल असंतुलन के कारण तैलीय ग्रंथियों से निकलने वाला तेल की मात्रा ज्यादा हो जाती है या इनमें किसी प्रकार का असंतुलन या संक्रमण पैदा हो जाता है तो हमारे चेहरे पर कील मुंहासे नजर आने लगते हैं । यह कील मुंहासे चेहरे के अतिरिक्त शरीर के अन्य अंगों पर भी दिखाई दे सकते हैं ।

कील मुंहासे क्या होते हैं What is Acne in hindi

कील मुंहासे वास्तव में त्वचा की एक समस्या होती है जिसमें त्वचा पर लाल या गुलाबी रंग के दाने हो जाते हैं, जिनमें एक चिपचिपा पदार्थ गांठ या ग्रंथि के रूप में मौजूद होता है । चेहरे पर उभरने वाले कील मुंहासे वास्तव में खानपान, रहन सहन एवं हमारे शरीर में होने वाले हार्मोन परिवर्तन के कारण होते हैं ।

जब बच्चे किशोरावस्था में प्रवेश करते हैं तो उस समय उनके शरीर में अनेकों परिवर्तन होते हैं जिसके कारण उनके चेहरे पर अक्सर कील मुंहासे निकल आते हैं ।

कील मुंहासे केवल चेहरे पर ही नहीं निकलते बल्कि यह बाजू, कंधों एवं कमर पर भी निकलते हैं । हाथों की हथेलियों एवं पैरों के तलवों में कील मुहांसे कभी नहीं निकलते हैं, क्योंकि हथेली और तलवों में तैलीय ग्रंथि नहीं होती हैं ।

कील मुहांसों के प्रकार Types of Acne in hindi

कील मुंहासे युवकों एवं युवतियों में 13 वर्ष की आयु से लेकर 30 वर्ष की आयु तक कभी भी निकल सकते हैं । कील मुहांसों के निकलने से चेहरा भद्दा हो जाता है तथा सुंदरता भी जाती रहती है । आइए अब जानते हैं कील मुंहासे कितने प्रकार के होते हैं ।

पेपुल्स (papules): पुलिस यह गुलाबी रंग के दाने होते हैं जो बाद में कठोर हो जाते हैं तथा इनमें कभी-कभी दर्द भी हो सकता है ।

फुंसी या दाना (pustules): यह आकार में छोटे बड़े होते हैं तथा यह दूर से देखने में बहुत ज्यादा बदसूरत लगते हैं । कभी-कभी इन में मवाद भी हो सकता है ।

नोड्यूल (nodules): यह त्वचा में गहराई से निकलने शुरू होते हैं तथा इनका आकार काफी बड़ा होता है । यह दर्ददायक होते हैं तथा चेहरे की सुंदरता को नष्ट कर देते हैं ।

पुटी (cyst): यह भी नोड्यूल्स की तरह त्वचा में गहराई से ही निकलते हैं, लेकिन आकार में नोड्यूल्स से थोड़े कम होते हैं । यह भी त्वचा पर अपना दाग छोड़ सकते हैं ।

व्हाइटहेड्स (whiteheads): यह आकार में बहुत छोटे होते हैं तब त्वचा के नीचे होते हैं तथा दूर से देखने पर मालूम नहीं पड़ते हैं । नजदीक से देखने पर यह दिखाई देने लगते हैं ।

ब्लैकहेड्स (blackheads): ब्लैक हेड्स त्वचा पर काले रंग के बारीक बारीक धब्बे होते हैं जो दूर से ही देखे जा सकते हैं ।

कील मुंहासे निकलने के कारण Reasons of Acne in hindi

जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया कि कील मुंहासे निकलने के कारण खानपान में परिवर्तन, शारीरिक परिवर्तन एवं शरीर में पित्त एवं कफ की अधिकता या हार्मोनल असंतुलन हो सकता है । नीचे हमने कील मुंहासे निकलने के सभी कारणों के बारे में चर्चा की है ।

अनुवांशिक कारण

यदि आपके परिवार में आपके बाप दादा या परिवार के किसी बड़े सदस्य को कील मुंहासे की समस्या रही है तो यह समस्या आपको भी हो सकती है, क्योंकि यह समस्या अनुवांशिक रूप से भी प्रभावित करती है ।

बढ़ती उम्र का प्रभाव

जैसे-जैसे आपकी उम्र बढ़ती जाती है वैसे वैसे आपके शरीर में अनेक प्रकार के हार्मोनल एवं रासायनिक परिवर्तन होते हैं । शरीर में पित्त एवं कफ का संतुलन भी बिगड़ जाता है जिस कारण चेहरे पर दाग धब्बे होना या कील मुंहासे होने की समस्या हो सकती है ।

मासिक धर्म के कारण

महिलाओं में यदि मासिक धर्म के समय किसी प्रकार की समस्या हो जैसे मासिक धर्म के समय दर्द होना या मासिक धर्म खुलकर न आना तो ऐसी स्थिति में भी महिलाओं के चेहरे पर कील मुंहासे हो सकते हैं । जब बालिकाओं में मासिक धर्म शुरू होता है तो ऐसे समय में बालिकाओं के शरीर में कुछ हार्मोन परिवर्तन होते हैं जिनमें चेहरे पर कील मुहासे होना एक आम बात होती है ।

मानसिक बीमारी के कारण

जिन लोगों को किसी प्रकार की कोई मानसिक बीमारी हो या जो लोग बहुत ज्यादा चिंता करते हो उन्हें चेहरे पर कील मुंहासे होने की संभावना सामान्य लोगों की तुलना में कहीं ज्यादा बढ़ जाती है ।

क्योंकि मानसिक तनाव के कारण शरीर में हार्मोन असंतुलन हो जाता है जो त्वचा रोगों के प्रति उत्तरदाई होता है । ज्यादा तनावग्रस्त रहने से न्यूरोपेप्टाइड्स नामक रसायन निकलता है जो कील मुंहासे के लिए जिम्मेदार होता है ।

सौंदर्य प्रसाधनों का प्रयोग

जो महिलाएं सौंदर्य प्रसाधनों जैसे पाउडर, क्रीम इत्यादि का बहुत ज्यादा प्रयोग करती हैं उनके चेहरे पर केमिकल प्रभाव के कारण समस्या हो सकती है । कुछ महिलाएं तो प्रतिदिन ही सौंदर्य प्रसाधनों का प्रयोग करती हैं तथा रात को भी बिना मुंह धोए ही सो जाती हैं ।

ऐसी स्थिति में चेहरे पर कील मुंहासे निकलने की संभावना काफी हद तक बढ़ जाती है । यदि आप चाहते हैं कि आपके चेहरे पर कील मुंहासे ना हो तो सौंदर्य प्रसाधनों का त्याग करें तथा प्राकृतिक संसाधनों का प्रयोग करें । इसके लिए आप अपने चेहरे पर ग्लिसरीन तथा गुलाब जल का मिक्सचर लगा सकते हैं जो काफी हद तक प्राकृतिक होता है ।

खाद्य पदार्थों के कारण

जो लोग ज्यादातर बाजार की चीजें जैसे फास्ट फूड व तली हुई चीजें ज्यादा खाते हैं उन्हें कई प्रकार की त्वचा से संबंधित समस्याएं हो सकती हैं, जिनमें कील मुंहासे भी शामिल है । इसके अलावा बेकरी से संबंधित खाद्य पदार्थ, कोल्ड ड्रिंक्स, डेहरी प्रोडक्ट्स एवं मैदे से बनी हुई चीजें खाने से भी चेहरे पर कील मुंहासे हो सकते हैं ।

प्रदूषण के कारण

जो लोग प्रतिदिन लंबा सफर तय करते हैं या वातावरण के प्रदूषण के संपर्क में आते हैं, उनके चेहरे की त्वचा में मौजूद तेल ग्रंथियों में प्रदूषण पहुंच जाता है । जिस कारण त्वचा में कील मुहासे पैदा हो सकते हैं । इस समस्या से बचने के लिए आप अपने चेहरे को रुमाल या मास्क से ढक सकते हैं । इसीलिए बाहर से घर आते समय अपने चेहरे को साफ पानी से साफ करना चाहिए ताकि चेहरे पर जमा हुई धूल मिट्टी साफ हो जाए ।

कील मुंहासे कैसे निकलते हैं

खानपान, हार्मोनल परिवर्तन, प्रदूषण या किसी अन्य कारण से जब त्वचा के नीचे मौजूद तेल ग्रंथियों से निकलने वाला तेल त्वचा के नीचे ही रुक जाए तो यह फुंसी के रूप में त्वचा के नीचे इकट्ठा हो जाता है तथा कठोर हो जाता है । यह तेल ही कील मुहांसों का रूप धारण कर लेता है । मेडिकल साइंस में इसे एक्ने वल्गैरिस कहा जाता है, बाद में यह पस निकलने पर ठीक हो जाता है ।

कील मुंहासे से बचने के उपाय how to get rid of acne in hindi

कील मुहांसे से बचने के लिए आपको अपने खानपान एवं जीवन शैली में बदलाव करना जरूरी होता है । इसलिए यह जानना जरूरी है कि आपको अपनी डाइट में किन चीजों को शामिल करना चाहिए ताकि आपके चेहरे पर कील मुंहासे ना हो । इसके अलावा हम आपको इससे बचने के उपाय बताएंगे ।

कील मुहांसों से बचने के लिए क्या खाएं home remedies for acne in hindi

यदि आप चाहते हैं कि आप कील मुहांसों से बचे रहे तथा आपका चेहरा बिल्कुल साफ सुथरा एवं सुंदर बना रहे तो आपको अपने दैनिक जीवन में निम्न खाद्य पदार्थों को शामिल करना चाहिए ।

  1. हरे पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक, मेथी, शलजम तथा अन्य सब्जियां जैसे गाजर, मूली, शिमला मिर्च, शकरकंद इत्यादि ।
  2. मौसमी फल विशेषकर संतरा, सेब, अनानास, अमरूद तथा पपीता ।
  3. घर की जमी हुई दही एवं दूध । ध्यान रखें पैकेट वाला दूध नुकसानदायक होता है इसलिए संभव हो तो अपने सामने ही दूध निकलवा कर लाएं ।
  4. ग्रीन टी का सेवन कर सकते हैं
  5. ड्राई फ्रूट्स जैसे अखरोट, काजू एवं किशमिश का सेवन करें ।

कील मुंहासे से बचने के लिए क्या ना खाएं

  1. वह सभी खाद्य पदार्थ जिनमें तेल अधिक मात्रा में होता है जैसे पिज़्ज़ा, बर्गर, चाऊमीन, न्यूडल्स, चाट पकौड़ी, समोसे, छोले भटूरे या अन्य वस्तुएं ।
  2. ज्यादा मीठा ना खाएं । वे सभी खाद्य पदार्थ जिनमें कार्बोहाइड्रट्स की मात्रा अधिक हो उनसे बचना चाहिए जैसे सफेद ब्रेड सफेद चावल इत्यादि ।

जीवन शैली में बदलाव से दूर करें कील मुहांसों को how to get rid of acne scars in hindi

कील मुहांसों को दूर करने के लिए आपको अपनी जीवनशैली में परिवर्तन करना भी जरूरी है । जैसे कि अपने चेहरे को दिन में दो से तीन बार साफ पानी से धोएं । ऐसा करने से आपके चेहरे पर जमा हुई धूल मिट्टी या गंदगी साफ हो जाती है तथा चेहरे की त्वचा के नीचे मौजूद तेल ग्रंथियों से निकलने वाला तेल जमता नहीं है ।

प्रतिदिन 8 से 10 गिलास पानी पिए, क्योंकि ज्यादा पानी पीने से आप का रक्त साफ रहता है जिससे त्वचा रोग भी नहीं होते हैं तथा शरीर में मौजूद गंदगी एवं टॉक्सिंस शरीर से बाहर निकल जाते हैं । ऊपर बताए गए पौष्टिक एवं संतुलित आहार का अधिक से अधिक सेवन करें ।

भाप लें

भाप लेने से चेहरे की त्वचा के रोम छिद्रों में जमा हुई धूल मिट्टी एवं गंदगी निकल जाती है तथा बिल्कुल क्लीन हो जाती है । भाप त्वचा के रोम छिद्र को खोल देती है तथा पिंपल्स एवं ब्लैकहेड्स को दूर कर देती हैं ।

नमक कम खाएं

ज्यादा नमक भी कील मुहांसों का कारण बन सकता है ।

कील मुहांसों के घरेलू उपचार acne home remedies in hindi

आइए अब जानते हैं की एकने अर्थात कील मुहांसे के कौन-कौन से ऐसे उपचार हैं, जिन्हें आप घर पर ही ठीक कर सकते हैं तथा इस समस्या से बड़ी आसानी से छुटकारा पा सकते हैं ।

कील मुंहासे दूर करने के लिए बर्फ से सिकाई करें

कील मुहांसों को दूर करने के लिए बर्फ से सिकाई करना बहुत ही कारगर उपाय है । इसके लिए आप एक छोटा सा टुकड़ा बर्फ का ले ले तथा इसे अपने चेहरे पर मसाज करते हुए रगड़े । यह मसाज सिर्फ 2 मिनट तक करें । ज्यादा देर तक चेहरे पर मसाज करने से स्किन टिश्यू डैमेज हो सकते हैं ।

चेहरे पर कील मुंहासे हटाने के लिए मुल्तानी मिट्टी गुलाब जल एवं नींबू का पेस्ट लगाएं

मुल्तानी मिट्टी, गुलाब जल एवं नींबू का रस इन तीनों को मिलाकर पेस्ट बना लें तथा पूरे चेहरे पर या चेहरे के उन स्थानों पर लगाए जहा कील मुंहासे हैं । इस पेस्ट को 10 से 15 मिनट तक लगा रहने दें तथा इसके बाद अपने चेहरे को साफ पानी से धो लें । ऐसा नियमित रूप से करने से चेहरे की सुंदरता बढ़ती है तथा कील मुंहासे भी गायब होने लगते हैं

एक्ने दूर करने के लिए नींबू के रस का प्रयोग करें

चेहरे के कील मुंहासे दूर करने के लिए आप नींबू के रस का प्रयोग कर सकते हैं । इसके लिए एक नींबू का रस कटोरी में निकाल ले तथा कोटन को इसमें भिगोकर अपने चेहरे पर जेंटली मसाज करें । यह मसाज आप रात के टाइम करें तथा सुबह को अपना चेहरा साफ पानी से वाश करे ।

कील मुहांसों का घरेलू उपाय है एलोवेरा जेल

एलोवेरा जेल में एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं । यह त्वचा को इंफेक्शन फ्री करने के लिए प्रयोग किया जाता है । एलोवेरा जेल को 10 से 15 मिनट तक पूरे चेहरे पर पिंपल्स वाली जगह पर लगा दे तथा उसके बाद साफ पानी से अपने चेहरे को धो लें ।

कील मुहांसों के लिए फायदेमंद टी ट्री ऑयल तथा ऑलिव ऑयल

जैतून का तेल (ऑलिव ऑयल) तथा टी ट्री ऑयल पुराने समय से ही त्वचा रोगों में प्रयोग किए जाते रहे हैं । एक कटोरी ले तथा उनमें समान मात्रा में जैतून का तेल तथा टी ट्री ऑयल को मिक्स कर लें तथा किसी शीशी में भरकर रख लें । अब इस तेल को रुई की सहायता से या अपनी उंगलियों से कील मुंहासे वाले स्थान पर लगाएं । यह प्रयोग लगातार दो से 3 महीने तक करें ।

कील मुंहासे एवं दाग धब्बों को दूर करें लहसुन का पेस्ट

5 से 6 लहसुन की कलियां ले तथा उन्हें अच्छी तरह छील ले । इसमें थोड़ा पानी डालकर इसका पेस्ट बना लें । जब पानी पेस्ट में अच्छी तरह एडजस्ट हो जाए तब इस पेस्ट को पिंपल्स के ऊपर लगाएं । इस पेस्ट को पिंपल्स पर 15 से 20 मिनट तक लगा रहने दें तथा उसके बाद साफ पानी से अपने चेहरे को धो लें । यह पिंपल्स दूर करने का बेहतरीन उपाय है ।

पिंपल्स दूर करने का घरेलू उपाय है बेकिंग सोडा

आपके किचन में मौजूद बेकिंग सोडा पिंपल्स को दूर करने का घरेलू उपाय है । इसके लिए आप एक चौथाई या आधा चम्मच बेकिंग पाउडर ले तथा उसमें बहुत थोड़ा पानी मिलाए जिससे टेस्ट बन जाए । इस पेस्ट को चेहरे पर सीधा पिंपल्स के ऊपर ही लगाएं । इस जगह 10 मिनट तक इस पेस्ट को लगा रहने दें तथा उसके बाद साफ पानी से चेहरे को धो लें ।

कील मुंहासे दूर करें शहद एवं दालचीनी का पाउडर

एक चौथाई चम्मच दालचीनी का पाउडर ले तथा उसमें थोड़ा सा शहद मिलाकर पेस्ट बना लें । इस पेस्ट को चेहरे पर दाग धब्बे या पिंपल के ऊपर लगाएं । इस पेस्ट को सूखने दें तथा आधे घंटे बाद अपने चेहरे को साफ पानी से धो लें । यह प्रयोग 2 से 3 महीने तक करें ताकि आपको सकारात्मक परिणाम दिखने लगे । यदि आप के घर में दालचीनी पाउडर नहीं है तो आप सिर्फ शहद का प्रयोग भी कर सकते हैं ।

कील मुंहासे दूर करें हल्दी पाउडर

आधा चम्मच हल्दी का पाउडर ले तथा उसमें थोड़ा सा पानी मिलाकर पेस्ट बना लें । इस पेस्ट को उंगली से पिंपल्स या दाग धब्बों वाले स्थान पर लगाएं । इस पेस्ट को सूखने दें तथा आधे घंटे बाद अपने चेहरे को साफ पानी से धो लें । कुछ हफ्तों में आपको पॉजिटिव रिजल्ट मिलने लगेगा ।

कील मुहासों का इलाज है चंदन पाउडर

आधा चम्मच चंदन पाउडर ले तथा उसमें गुलाब जल मिलाकर पेस्ट बना लें । इस पेस्ट को चेहरे पर कील मुहांसों या दाग धब्बों पर लगाएं तथा आधे घंटे बाद चेहरे को साफ पानी से धो लें ।

कील मुंहासे का घरेलू उपाय है नारियल तेल

एक से दो चम्मच नारियल तेल ले तथा उसे किसी कटोरी या प्लेट में डाल ले । उंगलियों या रुई की सहायता से इसे चेहरे पर दाग धब्बे (पिंपल्स) वाले स्थान पर लगाएं । आप 5 से 10 मिनट तक हल्के हाथों से मसाज कर सकते हैं । यह प्रयोग दिन में दो से तीन बार करें, कुछ हफ्तों में आपको अच्छे रिजल्ट मिलने लगेंगे ।

चेहरे के दाग धब्बे एवं मुहांसों का घरेलू उपाय है नीम के पत्ते

नीम के पत्ते आपको बड़ी आसानी से तथा फ्री में ही मिल जाएंगे ।इन्हें ले आए तथा सुखाकर इनका पाउडर बना लें । इस पाउडर में बराबर मात्रा में मुल्तानी मिट्टी मिला लें तथा इस मिश्रण को किसी प्लास्टिक या कांच के जार में भरकर रख लें । एक कटोरी में इस मिश्रण का एक चम्मच लें तथा गुलाब जल मिलाकर पेस्ट तैयार करें । इस पेस्ट को चेहरे पर लगाएं तथा आधे घंटे बाद चेहरे को साफ पानी से धो लें ।

जैतून का तेल दूर करें कील मुहांसों को

रात को सोते समय चेहरे को साफ पानी से वाश करें तथा उसके बाद जैतून के तेल को अपने चेहरे पर अच्छी तरह से लगाएं । जैतून के तेल को थोड़ा गुनगुना करें तो ज्यादा बेहतर रहेगा ।

कील मुहांसों के लिए फायदेमंद है ग्लिसरीन एवं गुलाब जल का मिश्रण

100ml ग्लिसरीन तथा 100ml गुलाब जल को मिलाकर किसी बड़े से कांच की शीशी में भरकर रख लीजिए । रात को सोते समय पहले अपने चेहरे को साफ पानी से वाश कर ले । कॉटन के कपड़े से चेहरे को अच्छी तरह पोंछ लें, इसके बाद इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाकर हल्के हाथों से मसाज करें तथा सो जाएं । सुबह उठकर साफ पानी से अपने चेहरे को धो लें ।

एक्ने के लिए फायदेमंद है कैस्टर ऑयल

रात को सोते समय आप कैस्टर ऑयल का प्रयोग भी कर सकते हैं । इसको लगाने की विधि बहुत आसान है । पहले चेहरे को साफ पानी से धोकर कॉटन के कपड़े से साफ कर ले तथा उसके बाद कैस्टर ऑयल को चेहरे पर हल्के हाथों से मसाज करें । सुबह उठकर साफ पानी से चेहरा धो लें ।

कील मुहांसों के लिए फायदेमंद है ग्रीन टी

ग्रीन टी शरीर में मौजूद एक्स्ट्रा फैट, कैलोरी तथा टॉक्सिंस को नष्ट करती है । जिस कारण यह त्वचा रोगों को दूर करती है तथा कील मुहांसों को दूर करने में मददगार होती है ।

कील मुहांसों में फायदेमंद है पपीता

पपीते को आप प्रतिदिन अपनी सलाह में शामिल कर सकते हैं तथा पपीते की का पेस्ट बनाकर चेहरे पर कील मुंहासे वाले स्थान पर लगाने से भी बहुत अच्छा फायदा मिलता है ।

डॉक्टर से संपर्क करें

वैसे तो कील मुहासे होना ज्यादा गंभीर समस्या नहीं होती है, यह एक आम समस्या है । अपने खान-पान, जीवनशैली में परिवर्तन करके इसे ठीक किया जा सकता है । लेकिन यदि यह गंभीर रूप धारण कर ले तो ऐसी स्थिति में डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए ।

यदि आप कील मुहांसों की चिकित्सा कराना चाहते हैं तो इसके लिए आप संत आयुर्वेद के संस्थापक वैद जसवंत सिंह जी के पुत्र वैद्य गजेंदर सिंह जी से संपर्क करें । गजेदर सिंह जी आयुर्वेद शास्त्री है एवं इन सभी रोगों के विशेषज्ञ है । इस रोग की चिकित्सा ज्यादा महेंगी नहीं है । 1 माह की दवा का मूल्य 850 रुपया होता है । आपको दवा डाक या कूरियर द्वारा भेज दी जाएगी । अधिक जानकारी के लिए हमारे whatsapp no 7409224797 पर संपर्क करें ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *