गोक्षुरादि गुग्गुके गुण फायदे उपयोग एवं नुक्सान Gokshuradi Guggulu benefits in hindi

By | April 12, 2020

गोक्षुरादी गुग्गुल क्या है? What is Gokshuradi Guggulu?

 
गोक्षुरादी गुग्गुल (Gokshuradi Guggulu) एक आयुर्वेदिक दवा है जिसका उपयोग मुक्य रूपे से मूत्र मार्ग के संक्रमण जैसे कि मूत्र क्रच्ता यानी बार बार पेशाब का आना, रुक रुक कर पेशाब का आना, मूत्र मार्ग में पथरी होना, किडनी में पथरी होना आदि रोगों में किया जाता है ।
 
जैसा कि इस दवा के नाम से ही पता चलता है कि इस दवा में दो मुख्य जड़ी बूटियां गोखरू एवं गूगल का प्रयोग किया जाता है । इसलिए गोखरू और गूगल के योग से बनी यह दवा मूत्रमार्ग के रोगों में तो फायदा करती ही है, साथ ही सूजन को कम करने में भी इस दवा का प्रयोग किया जाता है । इसके अलावा महिलाओं के प्रदर रोग एवं पुरुषों के धातु संबंधित रोगों में भी गोक्षुरादि गूगल फायदा करती है ।
 

गोक्षुरादि गुग्गुल के घटक द्रव्य Gokshuradi Guggulu Ingredients

 
गोक्षुरादि गूगल एक आयुर्वेदिक दवा है जिसमें निम्न जड़ी बूटियां डाली जाती है ।
 
    • शुद्ध गुग्गुलु – 280 ग्राम,
    • गोक्षारु – 1120 ग्राम,
    • हरड – 100 ग्राम,
    • बहेड़ा – 100 ग्राम
    • आँवला – 100 ग्राम,
    • सोंठ – 100 ग्राम,
    • पिप्पली – 100 ग्राम
    • कालीमिर्च – 100 ग्राम
    • नागर मोथा – 100 ग्राम
 

गोक्षुरादि गूगल की खुराक Gokshuradi Guggulu Dosage

 
गोक्षुरादि गूगल की दो दो गोली सुबह शाम ताजे पानी के साथ सेवन कर सकते हैं । रोग ज्यादा जटिल होने पर इस दवा को दिन में 3 बार भी ले सकते हैं । अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें ।
 

गोक्षुरादि गुग्गुल के फायदे एवं उपयोग Gokshuradi Guggulu Benefits in hindi

 

प्रमेह रोगों में लाभकारी गोक्षुरादि गुग्गुल Gokshuradi Guggulu in Prameh Disease in hindi

 
गोक्षुरादि गुग्गुल कफ नाशक एवं वीर्य वर्धक रसायन की तरह कार्य करती हैं । इसलिए इस दवा का प्रयोग करने से सभी प्रकार के प्रमेह रोगों में फायदा होता है ।
 

मूत्र संक्रमण (यूरिन इन्फेक्शन) में लाभकारी गोक्षुरादि गुग्गुल Gokshuradi Guggulu benefits in urinal infection in hindi

 
गोक्षुरादि गूगल मूत्र मार्ग के संक्रमण जैसे कि पेशाब का बार बार आना या पेशाब का रुक रुक कर आना में फायदा करती है । इस रोग में रोगी को बार-बार पेशाब करने की इच्छा होती है तथा पेशाब करते समय मूत्र की बूंदें टपकती है तथा खुलकर पेशाब नहीं आता है ।
 
इतना ही नहीं मूत्र त्याग करते समय रोगी को बहुत अधिक दर्द भी होता है । सामान्यतः यदि मूत्र मार्ग में पथरी हो या गुर्दे की पथरी हो तो ही इस प्रकार की स्थिति पैदा होती है । ऐसी स्थिति में रोगी को पथरी की जांच अवश्य करवा लेनी चाहिए साथ ही किसी योग्य चिकित्सक की देखरेख में भी रहना चाहिए । अतः इस समस्या में गोक्षुरादि गुग्गुल का उपयोग करना लाभदायक सिद्ध होता है ।
 

मूत्रघात में लाभकारी गोक्षुरादि गुग्गुल Gokshuradi Guggulu benefits in hindi

 
मूत्राघात बहुत ही भयंकर स्थिति होती है, जिसमें रोगी को पेशाब बिल्कुल ही नहीं आता है । ऐसा इसलिए होता है क्योंकि रोगी की किडनी में इंफेक्शन हो जाता है जिस कारण मूत्र की उत्पत्ति ही नहीं होती है ।
 
इसके अलावा यह स्थिति व्यक्ति के जल जाने पर भी उत्पन्न हो सकती है । इस स्थिति में गोक्षुरादि गुग्गुल का उपयोग किसी योग्य चिकित्सक की देखरेख में कराने से लाभ मिलता है ।
 

पथरी में लाभकारी गोक्षुरादि गुग्गल Gokshuradi Guggulu benefits in stone in hindi

 
गोक्षुरादि गुग्गुल पथरी रोग की एक अनुभूत और सफल ओषधि होती है । किडनी की पथरी में गोक्षुरादि गुग्गुल को वरुणादि क्वाथ के साथ सेवन कराना चाहिए । दवा के सेवन से पथरी चुरा होकर मूत्र मार्ग से निकल जाती है, जिस कारण मूत्र त्याग करते समय रोगी को दर्द भी होता है । इसलिए इस दवा के साथ चंद्रप्रभा वटी का सेवन भी कराया जाना चाहिए, जिससे रोगी को दर्द कम होता है तथा मूत्र मार्ग का संक्रमण भी नहीं होता है ।
 

पुरुष ग्रंथि वृद्धि में लाभकारी गोक्षुरादि गुग्गल Gokshuradi Guggulu benefits in hindi

 
गोक्षुरादि गूगल पुरुषों में पुरुष ग्रंथि के बढ़ जाने में लाभकारी होती है । इस रोग में रोगी को पेशाब में रुकावट हो जाती है तथा पेशाब रुक रुक कर आता है एवं पेशाब करते समय जलन भी होती हैंी होती हैं । इस दवा के सेवन से और पुरुष ग्रंथि सामान्य हो जाती है तथा उपरोक्त समस्या भी ठीक हो जाती हैं । इस रोग में चंद्रप्रभा वटी एवं आरोग्यवर्धिनी वटी का सेवन भी कराया जाना चाहिए ।
 

उच्च रक्तचाप में लाभकारी गोक्षुरादि गुग्गल Gokshuradi Guggulu in high blood pressure in hindi

 
गोक्षुरादि गूगल उच्च रक्तचाप अर्थात हाई ब्लड प्रेशर में भी लाभकारी होती हैं । ऐसा नहीं है की गोक्षुरादि गूगल को केवल इन्फेक्शन में ही प्रयोग किया जाता है, बल्कि इस दवा को हाई ब्लड प्रेशर में भी प्रयोग किया जा सकता है ।
 
हाई ब्लड प्रेशर में गोक्षुरादि गूगल को पुनर्नवाष्टक क्वाथ या महामंजिष्ठादि क्वाथ के साथ दिन में दो से तीन बार देने पर लाभ होता है । इन दवाओं के साथ चंद्रप्रभा वटी, सर्पगंधा वटी, समीर पन्नग रस, वृहद वाद चिंतामणि रस एवं योगेंद्र रस का प्रयोग भी किसी योग्य चिकित्सक की देखरेख में कराने पर बहुत ज्यादा लाभ होता है ।
 

गोक्षुरादि गूगल के दुष्प्रभाव एवं सावधानियां Gokshuradi Guggulu side effects in hindi

 
यदि गोक्षुरादि गूगल को किसी योग्य चिकित्सक की देखरेख में सेवन किया जाए तो इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं होता है । लेकिन यदि इसकी ज्यादा डोस ले ली जाए तो इससे व्यक्ति को कुछ समस्याएं हो सकती हैं जैसे एसिडिटी एवं चक्कर आना आदि जैसी समस्याएं हो सकती हैं ।
 
गोक्षुरादि गूगल को सदैव नाश्ते के पश्चात या भोजन के पश्चात ही लेना चाहिए । गोक्षुरादि गूगल को सामान्यता पानी के साथ लिया जाता है,  लेकिन आवश्यकता पड़ने पर इसे दूध के साथ ही लिया जा सकता है । गोक्षुरादि गूगल को कभी अपनी मर्जी से मत ले । इस दवा को किसी योग्य चिकित्सक की देखरेख एवं सलाह में ही प्रयोग करें ।
 

गोक्षुरादि गुग्गल का मूल्य Gokshuradi Guggulu Price in hindi

    • Baidyanath Gokshuradi Guggulu -80 Tab – Rs 120
    • Patanjali Gokshuradi Guggul – 80 Tab – Rs 55
    • Unjha Gokshuradi Guggulu-200 Tablets – Rs 185
    • Sri Sri Tattva Gokshuradi Guggulu 500Mg Tablet – 30 Count -Rs 48
    • Jain Gokshuradi Guggulu – 80 Count (Pack of 2) -Rs 205
    • Jain Gokshuradi Guggulu – 1000 Count – Rs 872
    • Dhanvantari Gokshuradi Guggulu – 60 Tablets – Rs 86

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *