डाबर अशोकारिष्ट सिरप के गुण उपयोग एवं फायदे Dabur Ashokarishta uses and benefits in hindi

By | April 29, 2020

डाबर अशोकारिष्ट सिरप क्या है? Dabur Ashokarishta in hindi

डाबर अशोकारिष्ट सिरप एक आयुर्वेदिक एवं हर्बल औषधि है जिसका उपयोग महिलाओं की समस्याओं (ashokarishta ke fayde) जैसे मासिक धर्म के समय बहुत ज्यादा दर्द होना, बहुत ज्यादा खून का स्राव होना, अनियमित माहवारी होना (dabur ashokarishta for irregular periods) आदि समस्याओं में किया जाता है ।

  • संदर्भ: भैषज्यरत्नावली
  • दवा का नाम: अशोकारिष्ट Ashokarishta
  • उपलब्धता: यह ऑनलाइन और दुकानों में उपलब्ध है।
  • दवाई का प्रकार: हर्बल आयुर्वेदिक आसव-अरिष्ट
  • मुख्य उपयोग: योनि से अधिक ब्लड जाना
  • गर्भावस्था में प्रयोग: नहीं करें।

रक्त प्रदर महिलाओं का प्रबल शत्रु है । इस रोग में मासिक धर्म के समय महिलाओं के शरीर से बहुत ज्यादा खून निकल जाता है, जिससे महिलाओं में खून की कमी हो जाती है एवं सिर में दर्द रहना, कमजोरी बेचैनी रहना एवं नींद ना आना जैसी समस्याएं महिलाओं को घेर लेती हैं ।

हम यह कह सकते हैं कि अशोकारिष्ट महिलाओं की मासिक धर्म संबंधित लगभग लगभग सभी समस्याओं के लिए एक लाभदायक टॉनिक है । यदि महिलाओं को मासिक धर्म के समय इस प्रकार की शिकायत रहती हो तो उन्हें अशोकारिष्ट का सेवन अवश्य करना चाहिए ।

जिन महिलाओं को मासिक धर्म बिल्कुल ना होता हो या कई कई महीने तक ना होता हो, जिसे की चिकित्सा विज्ञान में अमेनोरिया कहा जाता है, इस समस्या में अशोकारिष्ट बहुत अच्छा फायदा करती है, तथा कुछ महीनों तक अशोकारिष्ट के सेवन से यह समस्या दूर हो जाती है । बांझपन अर्थात इनफर्टिलिटी की समस्या में भी अशोकारिष्ट का सेवन कराने से लाभ मिलता है ।

डाबर अशोकारिष्ट सिरप के घटक द्रव्य

Dabur Ashokarishta Ingredients in hindi

वानस्पतिक नाम सामान्य नाम
Saraca asoka Bark अशोक की छाल
Saccharum officinarum (Jaggery) गुड़
Woodfordia fruticosa flowers धातकी के फूल
Cyperus rotundus नागरमोथा की जड़
Zingiber Officinale अदरक प्रकंद
Nigella sativa कलौंजी
Berberis aristata दारुहरिद्र
Nymphaea stellata उत्पला के फूल
Emblica officinalis आमला या अमलाकी
Terminalia bellerica विभीतकी
Terminalia chebula हरीतकी
Mangifera indica Seeds आम बीज
Cuminum cyminum जीरा
Adhatoda vasica अडूसा
Santalum album चन्दन

जैसा कि इस औषधि के नाम से प्रकट होता है इस ओषधि में अशोक पेड़ की छाल को मुख्य घटक द्रव्य के रूप में प्रयोग किया गया है । अशोक पेड़ की छाल के अनेकों गुण होते हैं जिन पर हम किसी दूसरे लेख में विस्तार से वर्णन करेंगे ।

अशोक पेड़ की छाल का सबसे मुख्य फायदा महिलाओं की मासिक धर्म से जुड़ी हुई समस्याओं को दूर करना होता है । इसके अतिरिक्त यह गर्भाशय को बल प्रदान करता है, जिससे महिलाओं में अत्यधिक रक्तस्राव अर्थात रक्त प्रदर जैसी समस्या में लाभ मिलता है   आइए अब जानते हैं अशोकारिष्ट में कौन-कौन सी जड़ी बूटियां प्रयोग की जाती है ।

दवा के औषधीय गुण  Benefits of Medicine

  • रक्तप्रदर नाशक: रक्त प्रदर नष्ट करने वाली ओषधि।
  • प्रमेह नाशक: प्रमेह अर्थात मूत्र रोगों को नष्ट करने वाली ओषधि।
  • श्वेतप्रदर नाशक: महिलाओं कि श्वेत प्रदर को नष्ट करने वाली ओषधि।
  • कफ नाशक: कफ नाश करने वाली ओषधि।
  • दीपन और पाचन: भोजन हजम करने वाली ओषधि।
  • रक्त स्तंभक: जो चोट के कारण या आसामान्य कारण से होने वाले रक्त स्राव को रोक दे।
  • शोधक: विशेले पदार्थ नष्ट करने वाली ओषधि।

डाबर अशोकारिष्ट सिरप  के फायदे

Dabur Ashokarishta uses in hindi

  • अशोकारिष्ट महिलाओं की मासिक धर्म के समय होने वाली गड़बड़ी में लाभदायक ओषधि है ।
  • मासिक धर्म का रुक रुक कर आना या बहुत कम आना जैसी समस्या में लाभकारी ।
  • मासिक धर्म के होने के समय होने वाले दर्द में लाभकारी ।
  • मासिक धर्म के समय महिलाओं के पेट दर्द, कमर दर्द, कंधा दर्द, सिर दर्द एवं हाथों पैरों की जलन में लाभकारी ।
  • अत्यधिक रक्तस्राव अर्थात रक्त प्रदर जैसी समस्या में लाभकारी ।
  • महिलाओं में श्वेत प्रदर अर्थात लिकोरिया की समस्या में लाभकारी ।
  • मासिक धर्म के समय होने वाले बुखार या बवासीर की समस्याएं में लाभकारी ।
  • गर्भाशय की खराबी में लाभकारी ।
  • डिंब ग्रंथि के  सुचारू रूप से कार्य करने में लाभकारी ।
  • बांझपन में लाभकारी ।

अशोकारिष्ट महिलाओं के लिए अमृत के समान टॉनिक है । इसे हम आयुर्वेद की तरफ से महिलाओं के लिए एक वरदान कह सकते हैं, क्योंकि जहां एक और अशोकारिष्ट का सेवन करने से महिलाओं की मासिक धर्म के समय होने वाली अनेकों समस्याओं में लाभ मिलता है, वहीं महिलाओं की प्रजनन क्षमता भी ठीक होती है ।

इस दवा का सेवन करने से महिलाओं के प्रजनन अंग सुचारू रूप से कार्य करते हैं जिससे महिलाओं की बांझपन जैसी समस्या में लाभ होता है । यदि कोई महिला बांझपन की शिकार है तो महिला का जो भी इलाज चल रहा हो उस इलाज के साथ-साथ अशोकारिष्ट का सेवन अवश्य करवाना चाहिए ।

डाबर अशोकारिष्ट सिरप की सेवन विधि एवं मात्रा

औषधीय मात्रा (Dosage)

वयस्क 15 मिलीलीटर से 20 मिलीलीटर
अधिकतम संभावित खुराक 60  मिलीलीटर

सेवन विधि (Directions)

दवा लेने का उचित समय (कब लें?) खाना खाने के तुरंत बाद लें
दिन में कितनी बार लें? दो या तीन बार
अनुपान (किस के साथ लें?) समान मात्रा में पानी के साथ
उपचार की अवधि (कितने समय तक लें) चिकित्सक की सलाह लें

दुष्प्रभाव एवं सावधानियां Side Effects and Precautions

सामान्यतः इस दवा का कोई नुक्सान या साइड इफ़ेक्ट नहीं देखा गया है । लेकिन फिर भी आप इस दवा को आप अपने डॉक्टर कि सलाह से ही लें ।

उत्पादक

  • इस दवा को ऑनलाइन या आयुर्वेदिक स्टोर से ख़रीदा जा सकता है।
  • Ashokarishta is manufactured by Dabur, Shree Baidyanath Ayurved Bhawan, Patanjali Divya Pharmacy, Sandu Brothers; Oushadasala (Ashokarishtam), Keva Ayurveda Healthcare (Ashokarishtam), Kottakkal Aryavaidyasala, Nagarjuna (Asokarishtam)
  • तथा अन्य बहुत सी फर्मसियाँ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *