बेटा (लड़का) पैदा करने का उपाय तरीका टिप्स और भ्रम Beta (ladka) paida karne ka upay tarika tips or bhram

By | July 9, 2020

बेटा पैदा करने का उपाय Beta paida karne ke upay in hindi

कौन से माता पिता ऐसे होंगे जो यह नहीं चाहते होंगे कि उनके घर भी कम से कम 1 पुत्र का जन्म तो अवश्य ही हो । आज से ही नहीं बल्कि प्राचीन समय से ही पुत्र की मनोकामना मांगने के साक्ष्य हमें किवदंती या कहानियां और ग्रंथों में मिलते हैं और यह सही भी है कि कम से कम 1 पुत्र तो होना ही चाहिए ।

बहुत से दंपत्ति ऐसे होते हैं जिनकी बहुत सारी पुत्रियां हो जाती हैं और वे 1 पुत्र के लिए तरसते हैं । वे चाहते हैं की पुत्रियों के बाद कम से कम 1 पुत्र उनके घर में जन्म ले ताकि वे भी पुत्र का आनंद उठा सकें ।

आज इस लेख में हमने अपने पाठको का ध्यान रखते हुए पुत्र प्राप्ति के आयुर्वेदिक घरेलू उपाय एवं तरीका बताया है । इसे जानने के बाद निश्चित रूप से आप पुत्र प्राप्त करने में सफलता प्राप्त करेंगे । तो आए जानते हैं क्या है यह घरेलू उपाय ।

पुत्र होने का जिम्मेदार कौन माता या पिता? Putra hone ka jimmedar kon mata ya pita

सबसे पहले तो यह जानना आवश्यक है कि पुत्र पैदा करने के लिए माता और पिता दोनों में किस को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है । आज का समय वैज्ञानिक युग का समय है ना कि अंधविश्वास का । मेडिकल साइंस इस बात को सिद्ध कर चुका है कि महिलाओं और पुरुषों दोनों में गुणसूत्र होते हैं जिन्हें क्रोमोसोम कहा जाता है ।

महिला में एक्स एक्स क्रोमोसोम होते हैं जबकि पुरुष में एक्स ओर वाई दोनों क्रोमोसोम होते हैं । पुरुष का वाई क्रोमोसोम महिला के एक्स क्रोमोसोम (अंडाणु) को निषेचित कर देता है तो इस प्रकार पुत्र का जन्म होता है । जबकि दूसरी ओर यदि पुरुष का एक्स क्रोमोसोम महिला के एक्स क्रोमोसोम को निषेचित करें तो कन्या का जन्म होता है ।

वाई क्रोमोसोम केवल पुरुषों में ही होता है और पुत्र प्राप्ति के लिए वाई क्रोमोसोम का होना आवश्यक है, तो इस प्रकार मेडिकल साइंस यह कहती है की पुत्र होने या ना होने में महिला की कोई गलती नहीं है, क्योंकि महिला में तो वाई क्रोमोसोम होता ही नहीं है, यह तो में  होता है ।

इसलिए जिन पुरुषों के वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या कम होती है या शुक्राणु की क्वालिटी अच्छी नहीं होती है वह महिला को वाई क्रोमोसोम के द्वारा गर्भवती नहीं कर पाते तथा बार-बार ऐसे पुरुषों की लड़की ही होती है । और हर बार सारा दोषी महिला को दिया जाता है जो कि महिला के साथ अन्याय है ।

तो यह तो आप समझ ही गए होंगे की पुत्र प्राप्ति के लिए केवल पुरुष को ही जिम्मेदार मानना चाहिए । अब प्रश्न यह उठता है कि यदि किसी पति-पत्नी के बार-बार लड़कियां ही हो रही हैं तो इसका सीधा सा मतलब है कि पुरुष में या तो वाई क्रोमोसोम की संख्या कम है या संभोग के दौरान वाई क्रोमोसोम अंडाणु तक नहीं पहुंच पाते हैं और बीच में ही नष्ट हो जाते हैं । इसके लिए हमें इस पर गहराई से विश्लेषण करने की आवश्यकता है ।

वीर्य दोष के कारण पुत्र की प्राप्ति ना होना Veery dosh ke karan putra ki prapti na hona

जिन पुरुषों के वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या बहुत कम होती है या वाई क्रोमोसोम की संख्या बहुत कम होती है, वे महिला को गर्भवती तो कर सकते हैं लेकिन पुत्र का जन्म पुत्र को पैदा करने में समर्थ नहीं होते हैं ।

ऐसी स्थिति में ऐसे पुरुषों को अपने वीर्य को टेस्ट कराना चाहिए तथा चेक करना चाहिए कि वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या कितनी है तथा उनकी क्वालिटी कैसी है,  उसके बाद इसका ट्रीटमेंट किया जा सकता है ।

वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या को बढ़ाने के लिए मन्मथ रस पुष्पधन्वा रस एवं धातु पौष्टिक चूर्ण जैसी देसी दवाइयों का सेवन किया जा सकता है या किसी अच्छे डॉक्टर से सलाह लेकर ट्रीटमेंट शुरू किया जा सकता है ।

पुत्र प्राप्ति के घरेलू उपाय Putra prapti ke gharelu upay in hindi

आपको एक विशेष बात जानने अत्यंत आवश्यक है वह यह है कि पुरुषों में पुत्र प्राप्ति के लिए वाई क्रोमोसोम का महिला के अंडाणु को निषेचित करना आवश्यक है यदि वाई क्रोमोसोम अंडाणु तक पहुंचने से पहले ही वर्षा नष्ट हो जाएंगे तो अंडाणु को कोई ना कोई एक्स क्रोमोसोम निश्चित कर देगा तथा ऐसी स्थिति में दोबारा से लड़की हो जाएगी । नीचे हमने पुत्र प्राप्ति का आयुर्वेदिक उपाय बताया है । यह उपाय काफी पुराना है, और आयुर्वेदिक डॉक्टर के द्वारा इस उपाय को काफी सफलता के साथ प्रयोग किया जाता रहा है 

पुत्र प्राप्ति के लिए आयुर्वेदिक उपाय Putra prapti ke liye ayurvedic upay in hindi

पुत्र प्राप्ति के लिए आयुर्वेद में बहुत सारे उपाय बताए गए हैं, लेकिन हम आपको पुंसवन कैप्सूल के बारे में बता रहे हैं । पुंसवन कैप्सूल आयुर्वेद की एक महान खोज है । यह कैप्सूल गर्भावस्था शुरू होने के पहले या दूसरे महीने में गाय के दूध के साथ लिए जाते हैं । किसी कुशल एवं अनुभवी आयुर्वेदाचार्य के द्वारा इन कैप्सूल का सेवन किए जाने पर पुत्र की प्राप्ति होती है । यह यह एक परीक्षित आयुर्वेदिक औषधि है ।

डॉक्टर से संपर्क करें Consult with your doctor

यदि आपको पुत्र की प्राप्ति नहीं हो रही है तथा बार-बार पुत्रियों का ही जन्म होता है तो आपको किसी अच्छी आयुर्वेदाचार्य या एमबीबीएस डॉक्टर से अपना उपचार करना चाहिए । आपको इंटरनेट पर पुत्र प्राप्ति के घरेलू उपाय या पुत्र प्राप्त के आयुर्वेदिक उपचार सर्च नहीं करना चाहिए, क्योंकि इंटरनेट पर आपको कोई भी इसके बारे में सही जानकारी नहीं देगा ।

इस लेख के माध्यम से हम आपका भ्रम दूर करना चाहते हैं । हम यह बिल्कुल भी दावा नहीं करते कि आप हमारी बताई गई किसी दवाई या उपाय से पुत्र की प्राप्ति कर लेंगे । आज का समय मेडिकल साइंस का समय है, इसलिए आपको किसी अच्छे डॉक्टर के पास जाकर अपना टेस्ट कराना चाहिए और अपना ट्रीटमेंट शुरू करना चाहिए ताकि आपको अच्छे रिजल्ट मिल सके ।

पुत्र प्राप्ति के लिए भ्रम Putra prapti ke liye bhram

इंटरनेट पर बहुत सी ऐसी वेबसाइट है जो पुत्र प्राप्ति के तरह-तरह के उपाय बताती हैं । यह वेबसाइट दावा करती हैं यदि आप अपने रहन-सहन, खानपान और महिला पार्टनर के साथ संभोग करने के तरीके में बदलाव कर लेंगे तो आपको पुत्र की प्राप्ति हो जाएगी ।

लेकिन यह सब बिल्कुल गलत है तथा ये वेबसाइट लोगों को गलत जानकारी देकर उन्हें भटका रही हैं । हमारा इस वेबसाइट के माध्यम से आपको सही जानकारी देना है ताकि आपको इसी प्रकार का डाउट ना रहे ।

नीचे हमने कुछ ऐसे ही मनगढ़ंत तरीके बताए हैं जो वास्तव में आपका केवल समय नष्ट करेंगे और आपको निराशा ही देंगे । आइए जानते हैं क्या है यह मनगढ़ंत तरीके ।

पुत्र प्राप्ति का उपाय है संभोग करने का सही समय Putra prapti ka upay hai sambhog karne ka sahi samay

कुछ लोगों का मानना है कि यदि महिला के मासिक धर्म शुरू होने के दूसरे, चौथे, छठे, आठवें, दसवें, 12वीं, 14 गए और 16 दिन संभोग किया जाए तो लड़का होता है जबकि तीसरे, पांचवें, सातवें, नो वे, 11 वे, 13 वे और 15 वे दिन संभोग करने से कन्या का जन्म होता है ।

वास्तव में यह केवल अंधविश्वास है इस तथ्य का कोई वैज्ञानिक आधार या मेडिकल प्रूफ नहीं है । डॉक्टर इस तथ्य को सिरे से नकारते हैं । हम भी आपको सलाह देते हैं कि आप ऐसी गलतफहमी में बिल्कुल ना रहे ।

लड़का पैदा करने के लिए सेक्स पोजीशन रखती है इंपॉर्टेंस Ladka paida karne ke liye sex position rakhti hai importance

कुछ लोगों का मानना है कि सेक्स के दौरान पोजीशन का बहुत इंपॉर्टेंट रोल होता है । गलत पोजीशन में संभोग करने पर कन्या का जन्म हो सकता है । लोगों का मानना है कि मिशनरी स्टाइल, डॉगी स्टाइल आदि में संभोग करने पर गर्भाशय का मुंह खुल जाता है तथा वीर्य सीधा गर्भाशय में प्रवेश कर जाता है और अंडाणु को निषेचित कर देता है जिससे पुत्र की प्राप्ति हो जाती है, लेकिन यह एक भ्रम है ।

लड़का पैदा करने के उपाय में शामिल है महिला को चरम सुख तक पहुंचाना Ladka paida karne ke upay me shamil hai mahila ko charam sukh tak pahuchana

कुछ लोग यह मानते हैं कि यदि संभोग के दौरान महिला को चरमसुख तक यानी क्लाइमैक्स तक नहीं पहुंचाया जाए तो ऐसे में पुत्र की प्राप्ति नहीं होती है । मेडिकल साइंस के अनुसार पुत्र प्राप्ति के लिए पुरुष के मात्र एक वाई क्रोमोसोम का महिला के एक एक्स क्रोमोसोम को निषेचित करना ही पर्याप्त होता है ।

यह जरूरी नहीं है कि वाई क्रोमोसोम को गर्भाशय तक पहुंचने के लिए तथा महिला के अंडाणु को निषेचित करने के लिए महिला को चरम सुख तक पहुंचना जरूरी हो । महिला को इसके बिना ही गर्भवती किया जा सकता है । जो पुरुष शीघ्रपतन के रोगी होते हैं वे भी महिला को गर्भवती कर सकते हैं ।

पुत्र प्राप्ति के लिए खानपान पर विशेष ध्यान दें Putra prapti ke liye khan pan par vishesh dyan de

कुछ लोग इधर उधर से पढ़कर या सुनकर यह मान लेते हैं कि महिला और पुरुष दोनों के खानपान को बदलने पर पुत्र की प्राप्ति हो सकती है । ऐसे लोगों का मानना है की महिला की योनि का वातावरण अम्लीय होता है तथा महिला की योनि में पुरुष के वीर्य में मौजूद वाई क्रोमोसोम, जो कि पुत्र प्राप्ति के लिए आवश्यक होते हैं अधिक से अधिक 24 घंटे तक रह सकते हैं ।

इसलिए यदि पुरुष क्षारीय भोजन ले जिससे उनके शरीर में अम्लता कम हो जाए तो उनका वीर्य मैं मौजूद क्रोमोसोम योनि में लंबे समय तक जिंदा रह सकते हैं तथा पुत्र प्राप्ति की संभावना बढ़ जाती है ।

इसी प्रकार महिलाओं को भी अंकुरित अनाज हरी पत्तेदार सब्जियां गाजर मूली एवं फल इत्यादि खाने की सलाह दी जाती है । लेकिन हम आपको बता दें कि महिला एवं पुरुष के भोजन का पुत्र प्राप्ति से कोई संबंध नहीं होता है ।

पुत्र प्राप्ति का उपाय है चाय या कॉफी Putra prapti ka upay hai chay ya cofee

इंटरनेट पर बहुत सी ऐसी वेबसाइट से जो यह दावा करती हैं कि पुत्र प्राप्ति के लिए संभोग करने से 15 मिनट या 30 मिनट पहले यदि पति और पत्नी दोनों ही चाय या कॉफी पी ले तो पुरुषों के वीर्य में शुक्राणुओं की गति बढ़ जाती है तथा वाई क्रोमोसोम ऊर्जावान हो जाते हैं तथा उन्हें लंबे समय तक जिंदा रखा जा सकता है । लेकिन वास्तव में यह एक कोरा भ्रम है । पुत्र प्राप्ति का चाय या कॉफी से किसी प्रकार का कोई संबंध नहीं होता है ।

लड़का पैदा करने के लिए नशा ना करें Ladka paida karne ke liye nasha na karen

बहुत से लोगों का यह भ्रम होता है कि नशीले पदार्थों जैसे बीड़ी, सिगरेट, तंबाकू या शराब का सेवन करने से पुरुषों में वाई क्रोमोसोम की संख्या घट जाती है तथा शुक्राणुओं की संख्या और उनकी क्वालिटी भी कम जाती है तथा ऐसे पुरुष पुत्र प्राप्ति नहीं कर सकते हैं ।

लेकिन ऐसा नहीं है, बीड़ी सिगरेट या शराब का पुत्र प्राप्ति से कोई संबंध नहीं है । हमने अपने अनुभव में बहुत से ऐसे लोग देखे हैं जो धूम्रपान भी करते हैं शराब भी पीते हैं और उनके पुत्र भी हैं । इसलिए इस बात का कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है, हम इसे खारिज करते हैं ।

लड़का पैदा करने के तरीकों के कुछ अन्य भ्रम Ladka paida karne ke kuch any bhram

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यह माना जाता है कि जब चंद्रमा अपनी कलाए बदलता है तथा धीरे-धीरे बड़ा होता चला जाता है तो पूर्णिमा की रात को अपनी महिला पार्टनर के साथ संभोग करने पर पुत्र की प्राप्ति होती है ।

दूसरे भ्रम में यह माना जाता है की पुत्र प्राप्ति के लिए महिला को टाइट कपड़े नहीं पहने चाहिए । महिला को ढीले ढाले कपड़े पहनने चाहिए क्योंकि टाइट कपड़े पहनने से महिला के शरीर में कुछ ऐसे परिवर्तन होते हैं जिससे पुरुष का वाई क्रोमोसोम महिला के एक्स क्रोमोसोम को निश्चित नहीं कर पाता है । यह एक भ्रम है हम इसे खारिज करते हैं ।

इन सबके अलावा हमारे समाज में बहुत सारे ऐसे भ्रम और मिथक मौजूद हैं जो पुत्र प्राप्ति के लिए सही माने जाते हैं । इस तरीके से खाना चाहिए, रहना चाहिए, सोना चाहिए, काम करना चाहिए, संभोग करना चाहिए, कपड़े कैसे पहने चाहिए, यह नहीं खाना चाहिए, वह नहीं खाना चाहिए,  इन दिनों में संभोग ना करें,  दिनों में संभोग करें, वगैरा-वगैरा । वास्तव में यह सब केवल अंधविश्वास है ।

यदि आप पुत्र प्राप्ति करना चाहते हैं तो आपको किसी अच्छे आयुर्वेद शास्त्री या एमबीबीएस डॉक्टर के पास जाना चाहिए । अपने वीर्य का टेस्ट कराने चाहिए और डॉक्टर के सलाह के अनुसार ही ट्रीटमेंट करना चाहिए । निश्चित रूप से आप को सकारात्मक लाभ मिलेंगे ।

One thought on “बेटा (लड़का) पैदा करने का उपाय तरीका टिप्स और भ्रम Beta (ladka) paida karne ka upay tarika tips or bhram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *