अर्शोघ्नी वटी के बारे में Arshoghni Vati Uses, Benefits and Side Effects in Hindi

By | March 2, 2020

अर्शोध्नी वटी का परिचय Arshoghni Vati (Bati) Reviews in Hindi

नमस्कार दोस्तों । आज हम बात करेंगे अर्शोघ्नी वटी (Arshoghni Vati) के बारे में । अर्शोघ्नी वटी एक आयुर्वेदिक औषधि है जिसका मुख्य कार्य बवासीर एवं भगंदर रोगों में किया जाता है ।

यह बिल्कुल सुरक्षित आयुर्वेदिक औषधि है जो गुदा मार्ग से संबंधित रोगों में चिकित्सकों के द्वारा प्रयोग की जाती है । तो आइए विस्तार से जानते हैं अर्शोधनी वटी के बारे में ।

और पढ़ें: Swarna Bhasma Benefits in Hindi

आपकी सुविधा के लिए हमने यहाँ इस दवा के online links दिए हैं । 
आप इन links पे जाकर इस दवा को खरीद सकते हैं 

Baidyanath Arshoghani Bati:



Baidyanath Arshoghni Bati -40 tab (Pack of 2):



Unjha Arshoghni Vati-200 Tablets:



अर्शोघ्नी वटी क्या है Arshoghni Vati in Hindi

जैसा कि हमने आपको बताया अर्शोघ्नी वटी एक आयुर्वेदिक औषधि है, जिसका मुख्य कार्य बवासीर एवं भगंदर को दूर करना होता है ।

और पढ़ें:
पतंजलि कांचनार गुग्गुल के फायदे

अर्शोघ्नी वटी के फायदे Arshoghni Vati Benefits in Hindi

बवासीर में लाभकारी अर्शोघ्नी वटी Arshoghni Vati Benefits in Piles

इस औषधि का सबसे प्रमुख कार्य बवासीर (Piles) को दूर करना होता है । बवासीर एक ऐसी बीमारी है जिसमें व्यक्ति को मल त्याग करते समय बहुत अधिक दर्द होता है । मल के साथ खून भी आता है । बवासीर दो प्रकार की होती है – खूनी बवासीर एवं बादी बवासीर ।

खूनी बवासीर में मल त्याग करते समय रक्त आता है जबकि बवासीर में रक्त नहीं आता है । बवासीर में व्यक्ति के गुदा मार्ग में मस्से हो जाते हैं, जिनमें मवाद हो जाता है । जिस कारण मल त्याग करते समय व्यक्ति को भयंकर दर्द होता है ।

यदि बवासीर का सही समय पर इलाज न किया जाए तो यह बीमारी भगंदर का रूप धारण कर लेती है । अर्शोघ्नी वटी के नियमित प्रयोग से बवासीर बीमारी में बहुत लाभ मिलता है । क्योंकि इस दवा का प्रयोग करने से बवासीर के मस्से सूख जाते हैं तथा मल त्याग करते समय दर्द भी नहीं होता है ।

और पढ़ें:
बैद्यनाथ सितोपलादि चूर्ण के फायदे

कब्ज नाशक अर्शोघ्नी वटी Arshoghni Vati Benefits in Constipation

अर्शोघ्नी वटी बवासीर मैं तो काम करती ही है, साथ साथ इस औषधि का प्रयोग करने से कब्ज की समस्या में भी लाभ मिलता है ।

यदि व्यक्ति को कब्ज रहती हो तो अर्शोड़नी वटी के साथ-साथ पंचसकार चूर्ण का प्रयोग भी कराया जा सकता है । क्योंकि पंचसकार चूर्ण बहुत ही अच्छा विरेचक है, जो बड़ी आत का शुद्धीकरण करता है, तथा पाचन संस्थान को बिल्कुल स्वस्थ रखता है । जिस कारण बवासीर की समस्या जड़ से ही समाप्त हो जाती है ।

और 
पढ़ें: dabur shilajit gold capsule course in hindi 

 

अर्शोघ्नी वटी की मात्रा Arshoghni Vati Dosage

अर्शोघ्नी वटी की एक एक गोली सुबह शाम ताजा पानी के साथ सेवन की जा सकती है । अधिक जानकारी के लिए आप अपने चिकित्सक से संपर्क करें ।

और पढ़े: Godanti Bhasma ke Fayde

अर्शोघ्नी वटी के घटक द्रव्य Arshoghni Vati Ingredients

1

निम्बफल (Azadirachta indica A. Juss.)

बीज

24 ग्राम

2

महानिम्ब (Azadirachta indica A. Juss.)

बीज

24 ग्राम

3

खूनखराबा (Daemenorops draco Blume.)

निर्यास

24 ग्राम

4

तृणकान्तमणि पिष्टी (कहरवा)

 

48 ग्राम

5

शुद्ध रसौंत (Berberis aristata DC)

Solid Ext.

3 ग्राम



अर्शोघ्नी वटी के दुष्प्रभाव Arshoghni Vati Side Effects

अर्शोघ्नी वटी का सामान्यतः कोई दुष्प्रभाव नहीं देखा गया है । लेकिन यदि आप इसे अनिश्चित मात्रा में या गलत अनुमान में सेवन करेंगे तो इससे आपको पेट में ऐठन एवं सिर दर्द जैसी समस्याएं हो सकती हैं । इसलिए इस औषधि का प्रयोग सही अनुपात में करना चाहिए ।

अर्शोघ्नी वटी (Arshoghni Vati) से संबंधित कुछ प्रश्न Some important questions regarding Brahmi Vati

 

क्या अर्शोघ्नी वटी (Arshoghni Vati) को शराब के साथ सेवन कर सकते हैं ?

नहीं अर्शोघ्नी वटी (Arshoghni Vati) को शराब के साथ नहीं लेना चाहिए । इस दवा को ताजे पानी के साथ लेना चाहिए ।

क्या अर्शोघ्नी वटी (Arshoghni Vati) को ड्राइविंग करने से पहले लिया जा सकता है ?

जी हाँ,  अर्शोघ्नी वटी (Arshoghni Vati) को ड्राइविंग करने से पहले लिया जा सकता है । 

क्या अर्शोघ्नी वटी (Arshoghni Vati) को लगातार लेने से नशे की आदत पड़ सकती है ?

नहीं । अर्शोघ्नी वटी (Arshoghni Vati) को लेने से किसी प्रकार की लत नहीं पड़ती है ।

क्या जल्दी लाभ उठाने के लिए अर्शोघ्नी वटी (Arshoghni Vati) की अधिक मात्रा ली जा सकती है ?

 

नहीं । अर्शोघ्नी वटी (Arshoghni Vati) को एक निश्चित मात्रा में निश्चित अवधि के लिए ही लेना चाहिए । अधिक जानकारी के लिए आप अपने चिकित्सक से संपर्क करें ।

अर्शोघ्नी वटी (Arshoghni Vati) को दिन में कितनी बार लिया जा सकता है ?

अर्शोघ्नी वटी (Arshoghni Vati) की एक खुराक 125 मिलीग्राम से 250 मिलीग्राम तक होती है । दिन में दो खुराक लेना सुरक्षित होता है । अधिक जानकारी के लिए आप अपने चिकित्सक से संपर्क करें ।

क्या गर्भावस्था के दौरान अर्शोघ्नी वटी (Arshoghni Vati) को लिया जा सकता है ?

गर्भावस्था के दौरान ब्राह्मी वटी (Brahmi Vati) को लेना सुरक्षित नहीं हो सकता है ।

क्या स्तनपान के दौरान अर्शोघ्नी वटी (Arshoghni Vati) को लेना सुरक्षित होता है ?

स्तनपान के दौरान अर्शोघ्नी वटी (Arshoghni Vati) को लेना सुरक्षित हो सकता है । अधिक जानकारी के लिए अपने चिकित्सक से संपर्क करें ।

क्या अर्शोघ्नी वटी (Arshoghni Vati) में चीनी होती है ?

नहीं । अर्शोघ्नी वटी (Arshoghni Vati) में चीनी नहीं होती है ।

गुदा रोगों के उपचार के लिए क्या अर्शोघ्नी वटी (Arshoghni Vati) को लिया जा सकता है ?

अर्शोघ्नी वटी (Arshoghni Vati) गुदा रोगों जैसे बवासीर, भगंदर आदि कि प्रसिद्द ओषधि है । 

अर्शोघ्नी वटी का मूल्य Arshoghni Vati Price

अर्शोघ्नी वटी कई फेमस ब्रांड जैसे Baidyanath, Patanjali, Dabur एवं Zandu के द्वारा बनाई जाती है तथा इन सभी ब्रांड के रेट भी अलग-अलग हो सकते हैं ।

अधिक जानकारी के लिए आप नीचे दिए गए लिंक पर जाकर अर्शोघ्नी वटी का मूल्य कंफर्म कर सकते हैं तथा इस दवाई को खरीद भी सकते हैं ।

Baidyanath Arshoghani Bati:



Baidyanath Arshoghni Bati -40 tab (Pack of 2):



Unjha Arshoghni Vati-200 Tablets:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *