अर्जुनारिष्ट के गुण फायदे उपयोग एवं नुक्सान Arjunarishta Syrup uses and benefits in hindi

By | April 28, 2020

अर्जुनारिष्ट सिरप  क्या है? Arjunarishta Syrup in hindi

 

अर्जुनारिष्ट सिरप (Arjunarishta Syrup) एक आयुर्वेदिक एवं हर्बल औषधि है जो मुख्य रूप से हृदय रोगों में प्रयोग की जाती है । अर्जुनारिष्ट को अर्जुन की छाल, अंगूर, गुड, मधुका एवं धातकी से तैयार किया जाता है । अर्जुनारिष्ट को ह्रदय रोगों में एक बलवर्धक टोनिक के रूप में इस्तेमाल किया जाता है ।

  • उपलब्धता: यह ऑनलाइन और दुकानों में उपलब्ध है।
  • दवाई का प्रकार: आयुर्वेदिक आसव-अरिष्ट
  • मुख्य उपयोग: हृदय रोग, एनजाइना, हाई बीपी , मंदनाड़ी
  • मुख्य गुण: हृदय को बल देना

अर्जुनारिष्ट का सबसे प्रमुख घटक द्रव्य अर्जुन नामक पेड़ की छाल होती है । यह छाल हृदय के लिए (arjunarishta for heart blockage) बहुत ही उत्तम जड़ी बूटी मानी जाती है । इसका सेवन करने से ह्रदय को ताकत मिलती है एवं हृदय सुचारू रूप से कार्य करता है ।

हृदय रोगों के अतिरिक्त इस टॉनिक का सेवन करने से फेफड़ों को भी ताकत मिलती है, जिससे सांस लेने में दिक्कत होना या घबराहट जैसी समस्या में लाभ मिलता है । रक्त प्रदर एवं रक्त अतिसार में इस औषधि के आंशिक लाभ देखे गए हैं ।

अर्जुनारिष्ट सिरप के घटक द्रव्य Arjunarishta Syrup ingredients

घटक द्रव्यों के नाम मात्रा
अर्जुन की छाल 480 ग्राम
द्राक्षा (अंगूर) 240 ग्राम
महुए के फूल 96 ग्राम
जल 5 लीटर
गुड़ 480 ग्राम
धाय के फूल 96 ग्राम

अर्जुनारिष्ट सिरप के फायदे Arjunarishta Syrup uses in hindi

यह हृदय के लिए एक सर्वोत्तम टॉनिक है, जिसका सेवन करने से ह्रदय रोगों में (arjunarishta for cholesterol) लाभ मिलता है   हृदय का बहुत तेज धड़कना एवं हृदय में दबाव बना रहना जैसी समस्या में लाभकारी । इस टॉनिक का सेवन करने से हृदय को बल मिलता है एवं हृदय की मांसपेशियां मजबूत होती हैं । हाई ब्लड प्रेशर एवं कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित रखने में लाभकारी । फेफड़ों की क्षमता बढ़ाने में लाभकारी ।

मात्रा एवं सेवन विधि

औषधीय मात्रा (Dosage)

बच्चे 5 से 10 मिलीलीटर
वयस्क 10 से 25 मिलीलीटर

सेवन विधि (Directions)

अर्जुनारिष्ट को भोजन ग्रहण करने के पश्चात जल की सामान मात्रा के साथ लें।

दवा लेने का उचित समय (कब लें?) सुबह और रात्रि भोजन के बाद
दिन में कितनी बार लें? 2 बार
अनुपान (किस के साथ लें?) बराबर मात्रा गुनगुना पानी मिला कर
उपचार की अवधि (कितने समय तक लें) कम से कम 3 महीने और चिकित्सक की सलाह लें

अर्जुनारिष्ट सिरप के चिकित्सा उपयोग Arjunarishta Syrup benefits in hindi

  • हृदय की कमजोरी में लाभदायक
  • अस्थमा में लाभदायक
  • अत्यधिक पसीना आना में लाभदायक
  • फेफड़ों की कमजोरी में लाभदायक
  • मुंह का सूखापन ठीक करने में लाभकारी
  • अनिद्रा एवं उच्च रक्तचाप में लाभकारी

अर्जुनारिष्ट सिरप औषधीय गुण Arjunarishta Syrup in hindi

  • यह एनाल्जेसिक है अर्थात दर्द को दूर करने वाली दवा है ।
  • एंटी इन्फ्लेमेटरी अर्थात सूजन कम करने वाली दवा है ।
  • हृदय को बल प्रदान करने वाली दवा है ।
  • पित्तनाशक अर्थात पित्त को नियंत्रित करने वाली दवा है ।
  • कफ नाशक अर्थात कफ को नियंत्रित करने वाली दवा है ।
  • आक्षेप नाशक अर्थात पेशियों की ऐंठन को कम करने में लाभदायक है ।

साइड इफेक्ट Side Effects

सामान्यतः तथा इस औषधि का कोई साइड इफेक्ट नहीं है, लेकिन फिर भी आप इस ओषधि को डॉक्टर की सलाह लेने के पश्चात ही सेवन करें । इस औषधि को बच्चों की पहुंच से दूर रखें एवं अधिक मात्रा में ना लें ।

कहाँ से खरीदें? How to buy?

  • बैद्यनाथ Baidyanath Arjunarishta प्राइस: 680 ml @ Rs. 164.00; 450 ml @ Rs. 120.00; 225 ml @ Rs.73.00
  • डाबर Dabur Arjunarishta, 450 ml @ Rs. 120.00
  • झंडू Zandu Arjunadyarishta Price: 450 ml @ Rs. 110.00
  • सन्डू Sandu Arjunarishta
  • पतंजलि Divya Pharmacy Arjunarishta 500 ml @ Rs. 80.00.  इत्यादि।
यह लेख आपको कैसा लगा अपने विचार कमेन्ट के माध्यम से जरुर बताये ।
 

 

One thought on “अर्जुनारिष्ट के गुण फायदे उपयोग एवं नुक्सान Arjunarishta Syrup uses and benefits in hindi

  1. Ashvani kumar

    I feel good to read it . is it necessary to take alopathic medicine which advise by doctors for heart when we use arjunarishtha syrup or only arjunarishta syrup is enough for permanent treatment

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *